EVM मामले पर राहुल का वार, बोले-EC की गाड़ी ख़राब, BJP की नीयत ख़राब, लोकतंत्र की हालत ख़राब

असम में वोटिंग के बाद बीजेपी उम्मीदवार की गाड़ी में ईवीएम मिलने पर बवाल, दिग्विजय सिंह ने बीजेपी को बताया EVM चोर, बोले- हद्द हो रही है जनाब

Updated: Apr 02, 2021, 02:24 PM IST

EVM मामले पर राहुल का वार, बोले-EC की गाड़ी ख़राब, BJP की नीयत ख़राब, लोकतंत्र की हालत ख़राब
Photo Courtesy : India Today

नई दिल्ली। असम चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग के बाद बीजेपी नेता के कार में EVM पाए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। देशभर के दिग्गजों ने एक स्वर में इस घटने की निंदा की है। इस घटने ने एक बार फिर से बीजेपी और केंद्रीय चुनाव आयोग के बीच कथित तालमेल को लेकर देशभर में बहस छेड़ दिया है। इस मामले में राहुल गांधी में बीजेपी और चुनाव आयोग पर हमला करते हुए कहा है कि लोकतंत्र की हालत खराब है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'चुनाव आयोग की गाड़ी ख़राब, बीजेपी की नीयत ख़राब, लोकतंत्र की हालत ख़राब।' 

कांग्रेस के दिग्गज नेता व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने बीजेपी को ईवीएम चोर करार दिया है। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि हद्द हो गई जनाब। दिग्विजय सिंह ने मामले पर सिलसिलेवार ट्वीट कर विरोध दर्ज किया है। उन्होंने कहा, 'हर बार EVM में खराबी की शिकायत मिलती है, आप कोई भी बटन दबाओ वोट बीजेपी को जाता है। हर बार जब आप ईवीएम को अनधिकृत व्यक्ति के कब्जे में पाते हैं तो वह बीजेपी से जुड़ा होता है। अब चुनाव आयोग अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करेगा लेकिन बीजेपी और उसके उम्मीदवार के बारे में क्या? हद हो रही है जनाब।' 

दिग्विजय सिंह ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि, 'चुनाव आयोग और बीजेपी के बीच का अंतर क्यों मिट रही है? चुनाव आयोग को उस उम्मीदवार और बीजेपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। क्या वे करेंगे? या सिर्फ नजरअंदाज कर उसके बारे में भूल जाना?'

यह भी पढ़ें: वोटिंग के बाद बीजेपी उम्मीदवार की कार में मिली EVM, चुनाव आयोग पर उठ रहे गंभीर सवाल

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मामले पर चुनाव आयोग के स्पष्टीकरण को स्क्रिप्ट करार दिया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, 'क्या स्क्रिप्ट है? चुनाव आयोग की गाड़ी खराब हुई, तभी वहां एक गाड़ी प्रकट हुई। गाड़ी भाजपा के प्रत्याशी की निकली। मासूम चुनाव आयोग उसमें बैठ कर सवारी करता रहा। प्रिय EC, माजरा क्या है? आप देश को इस पर कुछ सफाई दे सकते हैं? या हम सब मिलकर बोलें EC की निष्पक्षता को वनक्कम?' 

असम के कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा है कि चुनाव आयोग इसी स्क्रिप्ट को हर बार दोहराती है। उन्होंने ट्वीट किया, 'हर चुनाव में यही स्क्रिप्ट दोहराई जाती है- इलेक्शन कमीशन की कार खराब हो गई, ईवीएम मशीन को बीजेपी से जुड़ी कार में ट्रांसफर कर दिया गया, बाद में जब जनता नाराजगी जाहिर करती है तब अधिकारियों को इसका पता लगता है। इससे पहले कि जनता का भरोसा पूरी तरह खत्म हो जाए, चुनाव आयोग को खुद को सुरक्षित करना चाहिए।' 

दरअसल, कल शाम असम के करीमगंज जिले पाथरकंडी विधानसभा क्षेत्र में दूसरे चरण की वोटिंग के बाद सफेद रंग की बोलेरो कार में EVM मिली थी। कार का नंबर AS10 B 0022 है। हैरान करने वाली बात यह है कि कार पथरकंडी सीट के वर्तमान विधायक और बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की है। कार में ईवीएम मिलने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सफेद रंग की गाड़ी में ईवीएम मशीन रखी हुई है और लोग यह कहते सुने जा रहे हैं कि गाड़ी कृष्णेंदु पॉल की है।

यह भी पढ़ें: बीजेपी कैंडिडेट की कार में ईवीएम मिलने पर चुनाव आयोग ने रद्द किया संबंधित बूथ पर चुनाव, चार अधिकारी सस्पेंड

इस पूरे घटनाक्रम में हद्द तो तब हो गई जब बीजेपी नेता की गाड़ी में ईवीएम ले जाने का विरोध करने और वीडियो बनाने वाले स्थानीय लोगों पर ही पुलिस ने एफआईआर कर दी। इस घटना को लेकर अजीबोगरीब दलील भी दिए जा रहे हैं। मीडिया में चुनाव आयोग सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि ईवीएम ले जाते वक्त चुनाव आयोग की गाड़ी खराब हो गई थी। इसके बाद मदद के लिए अधिकारियों ने एक गाड़ी की व्यवस्था की ताकि ईवीएम को सही-सलामत पहुंचाया जा सके। दावा यह भी किया जा रहा है कि अधिकारियों को इस बात की जानकारी ही नहीं थी कि गाड़ी बीजेपी उम्मीदवार की है। चुनाव आयोग का यह स्पष्टीकरण किसी के गले नहीं उतर रही है।

मामले को तूल पकड़ता देख चुनाव आयोग ने आनन-फानन में कार्रवाई भी की है। चुनाव आयोग ने संबंधित बूथ पर चुनाव रद्द कर दिया है। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने चार निर्वाचन अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। निर्वाचन आयोग ने करीमगंज के ज़िला निर्वाचन अधिकारी को इस पूरे मामले में एक विस्तृत रिपोर्ट देने के लिए कहा है।