Ashok Gehlot Government: राजस्थान में पटाखा बिक्री पर बैन, दीपावली पर नहीं होगी आतिशबाजी

बढ़ते प्रदूषण और कोविड मरीज़ों को होनेवाली परेशानी की वजह से सरकार ने लिया फ़ैसला, वाहन चालकों से भी अपील कि लालबत्ती पर वाहनों के इंजन को बंद कर दें

Updated: Nov 02, 2020, 09:44 AM IST

Ashok Gehlot Government:  राजस्थान में पटाखा बिक्री पर बैन, दीपावली पर नहीं होगी आतिशबाजी
Photo Courtesy: EconomicTimes

जयपुर। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने दीपावली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दिया है। सीएम गहलोत ने कहा है कि सरकार ने कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने और कोविड-19 की परेशानी के मद्देनजर दीपावली पर पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक लगा दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को बिना फिटनेस के धुआं उगलने वाले वाहनों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। 

गहलोत रविवार शाम प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति, ‘नो मास्क-नो एंट्री’ तथा ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से अनलॉक-6.0 के दिशानिर्देशों को लेकर भी बातचीत की। गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में प्रदेशवासियों की जीवन की रक्षा सरकार के लिए सर्वोपरि है। उन्होंने कहा, 'आतिशबाजी से निकलने वाले धुएं के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ ही हृदय व श्वास रोगियों को भी तकलीफ का सामना करना पड़ता है। ऐसे में, दीवाली पर लोग आतिशबाजी से बचें।'

नियम न मानने वालों पर होगी कार्रवाई

गहलोत ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है कि नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाए। सीएम ने वाहन चालकों से अपील की है कि वे लालबत्ती होने पर वाहनों के इंजन को बंद कर दें। साथ ही, मोहल्लों में कचरे को न जलाएं। उन्होंने वाहनों को लेकर निर्देश दिए कि प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। फिटनेस होने के बावजूद यदि वाहन निर्धारित मात्रा से अधिक धुआं छोड़ते पाया जाता है तो संबंधित फिटनेस सेंटर पर भी कार्रवाई हो।

10 दिनों में डॉक्टर्स की नियुक्ति

सीएम ने इस दौरान प्रदेश में चिकित्सकों की भर्ती प्रक्रिया को जल्द पूरा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि परीक्षा परिणाम में चयनित चिकित्सकों को समस्त प्रक्रिया 10 दिन के भीतर पूरी कर जल्द नियुक्ति दी जाए। बता दें कि प्रदेश में 2000 चिकित्सकों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है।