सपा और आरएलडी में हुआ सीटों का बंटवारा, मायावती का चुनाव लड़ने से इनकार

समाजवादी पार्टी के 6 उम्मीदवार आरएलडी के टिकट पर चुनाव लडेंगे, जबकि बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सतीश मिश्रा विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे

Publish: Jan 11, 2022, 02:13 PM IST

सपा और आरएलडी में हुआ सीटों का बंटवारा, मायावती का चुनाव लड़ने से इनकार

लखनऊ। समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोक दल के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है। हालांकि समाजवादी पार्टी अपने खाते से आरएलडी को कितनी सीटों पर चुनाव लड़ने देगी इसकी जानकारी अब तक सामने नहीं आई है। इसके साथ ही रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के 6 उम्मीदवार आरएलडी के चुनाव चिन्ह पर विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं बीएसपी प्रमुख मायावती विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीटों के बंटवारे को लेकर सपा और आरएलडी के नेताओं के बीच बीती रात बैठक हुई है। खुद सपा प्रमुख अखिलेश यादव फोन के ज़रिए बैठक से जुड़े थे। वहीं आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी भी इस बैठक का हिस्सा थे। बैठक में सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला तैयार कर लिया गया है। जल्द ही सीटों के बंटवारे का एलान किया जा सकता है। 

उत्तर प्रदेश विधानसभा में समाजवादी पार्टी छोटे दलों को अपने साथ लाने की कवायद में जुटी हुई है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आरएलडी की मौजूदगी को देखते हुए समाजवादी पार्टी ने आरएलडी के साथ जाने का फैसला किया है। आरएलडी ने 2002 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी के साथ गठबंधन किया था। जिसमें बीजेपी यूपी की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। आरएलडी ने कुल 14 सीटों पर दर्ज की थी। 

2012 में आरएलडी कांग्रेस के साथ चुनावी मैदान में उतरी जिसमें उसे नौ सीटों पर जीत मिली थी। वहीं पिछले विधानसभा चुनाव और 2007 के चुनावों में आरएलडी ने अकेले चुनावी मैदान में उतरने का फैसला किया था। 2007 में आरएलडी ने दस सीटों पर जीत हासिल की थी। जबकि पिछले विधानसभा चुनावों में आरएलडी एक सीट पर सिमट गई। 

यह भी पढ़ें : धर्म संसद से जुड़ा सवाल पूछने पर भड़के यूपी के डिप्टी सीएम, रिपोर्टर से की बदसलूकी जबरन डिलीट कराया वीडियो

उत्तर प्रदेश में कुल सात चरणों से विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव से पहले मौजूदा सीएम योगी आदित्यनाथ और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के चुनाव लड़ने पर सस्पेंस बरकरार है। हालांकि बीएसपी ने साफ कर दिया है कि मायावती विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने जा रही हैं। इसकी पुष्टि खुद सतीश मिश्रा ने की है। सतीश मिश्रा भी आगामी विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे।