योगी सरकार में बगावत के स्वर, मंत्री दिनेश खटीक ने अमित शाह को भेजा इस्तीफा, बोले- दलित हूं, मेरी बात नहीं सुनी जाती

जल संसाधन राज्य मंत्री दिनेश खटीक ने अपना पद छोड़ दिया है और अमित शाह को अपना इस्तीफा भेजा है, उन्होंने ये कहते हुए इस्तीफा दिया है कि वह दलित हैं, इसलिए उनकी नजरअंदाज किया गया है

Updated: Jul 20, 2022, 05:29 PM IST

योगी सरकार में बगावत के स्वर, मंत्री दिनेश खटीक ने अमित शाह को भेजा इस्तीफा, बोले- दलित हूं, मेरी बात नहीं सुनी जाती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में इन दिनों बगावत का स्वर देखने को मिल रहा है। योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री दिनेश खटीक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जल संसाधन राज्य मंत्री दिनेश खटीक ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता और देश के गृह मंत्री अमित शाह को अपना इस्तीफा भेजा है। उन्होंने ये कहते हुए पद छोड़ा है कि वह दलित हैं, इसलिए उन्हें नजरअंदाज किया गया है।

गृहमंत्री अमित शाह को संबोधित इस्तीफा पत्र में दिनेश खटीक ने कहा कि, 'मैं दलित समाज से हूं। इसलिए मेरी अनदेखी  की गई। नमामि गंगा और हर घर जल योजना में नियमों की अनदेखी हो रही है। ट्रांसफ़र पोस्टिंग में भ्रष्टाचार हो रहा है। मैं दलित समाज से हूं. इसलिए मेरी बात नहीं सुनी जाती। मेरी अनदेखी से दलित समाज आहत है। मेरा कोई मंत्री के तौर पर अस्तित्व नहीं है। मेरे लिए राज्यमंत्री के तौर पर काम करना दलित समाज के लिए बेकार है। न मुझे बैठक में बुलाया जाता है न ही मुझे मेरे मंत्रालय में हो रहे कार्यों के बारे में बताया जाता है। मैं आहत होकर अपना त्यागपत्र दे रहा हूं।'

यह भी पढ़ें: फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर को सुप्रीम कोर्ट ने सभी मामलों में दी जमानत, UP पुलिस को लगाई फटकार

जल संसाधन राज्य मंत्री दिनेश खटीक के इस्तीफे की अटकलें पहले से लगाई जा रही थी। बताया जा रहा है कि दिनेश खटीक अपने विभाग के वरिष्ठ मंत्री स्वतंत्र देव सिंह से नाराज हैं। मंगलवार को खटीक कैबिनेट मीटिंग में शामिल हुए थे। इसके बाद वह सरकारी गाड़ी छोड़ कर मेरठ अपने घर चले गए। खबर तो ये भी है कि जलशक्ति विभाग में तबादले की उनकी सिफारिश नहीं सुनी गई और काम का स्पष्ट बंटवारा न होने से उनके पास करने को कुछ नहीं है।