Vivek Tankha: जेईई नीट परीक्षा के आयोजन पर विचार करे सरकार

JEE Exam 2020 date: सांसद विवेक तन्खा ने मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को लिखा पत्र, जेईई और नीट की परीक्षा को लेकर करें पुनर्विचार

Updated: Aug-22, 2020, 02:09 AM IST

Vivek Tankha: जेईई नीट परीक्षा के आयोजन पर विचार करे सरकार

नई दिल्ली। एक सितंबर से देश भर में जेईई और नीट की परीक्षाओं का आयोजन होना है। इस हेतु नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने गाइडलाइन भी जारी कर दी हैं। लेकिन इसके साथ ही देश भर में परीक्षा के लिए पंजीकृत लाखों छात्रों के बीच तनाव का माहौल है। ऐसे में विवेक तन्खा ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर फैसले पर पुनर्विचार करने हेतु अनुरोध किया है।

कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने मानव संसाधन मंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि जेईई और नीट की परीक्षाओं के आयोजन के ऐलान भर से छात्रों में तनाव का माहौल है। देश भर में छात्र मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षाओं को टालने की मांग कर रहे हैं।तन्खा ने कहा है कि देश भर में आकस्मिक लॉक डाउन लगने और अचानक से पढ़ाई ठप होने के कारण छात्रों की पढ़ाई नहीं हो पाई है। ऐसे में परीक्षाओं को थोड़े और समय के लिए आगे बढ़ा देने से छात्रों का तनाव कम हो जाएगा। 

छात्रों का जीवन कीमती है
तन्खा ने पोखरियाल को लिखे अपने पत्र में कहा है कि फिजिकली परीक्षाओं का आयोजन होने से छात्रों में कोरोना का संक्रमण फैलने का खतरा बना रहेगा। छात्रों ने परीक्षाओं के लिए कठिन परिश्रम भी किया है। लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि छात्रों का जीवन भी उतना ही कीमती है। तन्खा ने मानव संसाधन मंत्री से कहा है कि ऐसे समय में जब देश की सभी अदालतों में वर्चुअल रूप से संचालित हो रही हैं तो परीक्षाओं का आयोजन ऑनलाइन क्यों नहीं हो सकता ? तन्खा ने कहा कि वे शीर्ष अदालत के इस फैसले से सहमत हैं कि छात्रों के भविष्य को खराब नहीं किया जा सकता है लेकिन एक सत्य यह भी है कि फिजिकल रूप से परीक्षाओं के आयोजन से न सिर्फ भविष्य बल्कि जीवन पर भी खतरा मंडरा रहा है।