सरगुजा की जेनिफर ने पॉवर लिफ्टिंग में जीते दो गोल्ड, अब गुवाहाटी में नेशनल खेलेगी आदिवासी परिवार की बेटी

अम्बिकापुर की रहने वाली जेनिफर खलखो 12वीं की छात्रा है, वह गरीब परिवार से आती हैं और उनके पिता का स्वर्गवास हो गया है। उनकी मां अम्बिकापुर शहर के एक निजी स्कूल में टीचर हैं।

Updated: Sep 04, 2022, 09:44 AM IST

सरगुजा की जेनिफर ने पॉवर लिफ्टिंग में जीते दो गोल्ड, अब गुवाहाटी में नेशनल खेलेगी आदिवासी परिवार की बेटी

सरगुजा। छत्तीसगढ़ में सरगुजा जिले के आदिवासी परिवार की बेटी ने पॉवर लिफ्टिंग में दो गोल्ड मेडल हासिल किया है। अम्बिकापुर की रहने वाली जेनिफर खलखो 12वीं की छात्रा है। जेनिफर ने जांजगीर चांपा में आयोजित छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में बेंच प्रेस और डेड लिफ्ट में सब जूनियर और जूनियर में 102.5 किलो के साथ दो गोल्ड मेडल हासिल किया।

जेनिफर खलखो गरीब परिवार से आती है। पिता का स्वर्गवास हो गया है और मां अम्बिकापुर शहर के एक निजी स्कूल में टीचर हैं। उसी से उनका भरण पोषण होता है। जेनिफर पिछले एक साल में कई जगहों पर जाकर पॉवर लिफ्टिंग में भाग ली है। उन्होंने कोलकाता में हुए नेशनल पॉवर लिफ्टिंग में सिल्वर मेडल भी हासिल किया है। 

जेनिफर अब असम के गुवाहाटी में नेशनल पॉवर लिफ्टिंग खेल के लिए जाने वाली हैं। यहां वह अपना शक्ति प्रदर्शन करेगी। ये प्रतियोगिता 20 से 24 सितंबर तक आयोजित होने जा रहा है। 
जेनिफर खलको ने बताया कि उसे पॉवर लिफ्टिंग खेलने की प्रेरणा उसके मामी से मिली जो इंटरनेशनल प्लेयर हैं। इसके अलावा उनके भाई ने भी काफी सपोर्ट किया है। पिछले एक साल से वह पॉवर लिफ्टिंग खेल में हिस्सा ले रही है।

लगातार मेहनत के बलबूते जेनिफर ने अब तक आधा दर्जन से ज्यादा मेडल हासिल किया है। जेनिफर ने बताया कि उसे पॉवर लिफ्टिंग प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए खुद के खर्च से दूसरे जगहों पर जाना पड़ता है। चूंकि उनका परिवार गरीब है। इसलिए उन्हें आर्थिक समस्याएं आती है। इसके लिए उन्होंने मंत्री अमरजीत भगत को आवेदन देकर सहयोग करने की मांग की हैं। जेनिफर को स्ट्रॉग वूमेन ऑफ छत्तीसगढ़ के नाम से भी पहचाना जाने लगा है।