TIKTOK Ban : टिकटॉक ने कहा किसी से डाटा शेयर नहीं किया

TIKTOK ने बयान जारी कर कहा है कि हमारे लिए उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता और अखंडता सर्वोच्च मायने रखती है

Updated: Jun-30, 2020, 11:17 AM IST

TIKTOK Ban : टिकटॉक ने कहा किसी से डाटा शेयर नहीं किया

केंद्र सरकार द्वारा 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाने के 12 घंटों के भीतर भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय एप टिकटॉक को गूगल प्लेस्टोर और एपल स्टोर से हटा दिया गया है। केंद्र सरकार के इस फैसले को टिकटॉक इंडिया ने अस्थायी बताया है। कंपनी ने बयान जारी कर कहा है कि हमारे लिए उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता और अखंडता सर्वोच्च मायने रखती है। हमने चीन सहित किसी भी सरकार के साथ डाटा शेयर नहीं किया है। भविष्‍य में यदि हमसे डाटा मांगा भी जाएगा तो हम शेयर नहीं करेंगे।

टिकटॉक इंडिया के हेड निखिल गांधी ने बयान जारी कर कहा है कि  'हम केंद्र सरकार द्वारा जारी अंतरिम आदेश का अनुपालन करने की प्रक्रिया में हैं। हमें जवाब देने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के अवसर के लिए संबंधित सरकारी हितधारकों के साथ मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है। TikTok भारतीय कानून के तहत सभी डाटा गोपनीयता और सुरक्षा आवश्यकताओं का पालन करता है और भारतीय उपयोगकर्ताओं की कोई भी जानकारी किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं करता है, जिसमें चीनी सरकार भी शामिल है। यदि भविष्‍य में हमसे डाटा मांगा भी गया तो हम उसे प्रदान नहीं करेंगे। हमने भारत में इंटरनेट को 14 विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध कराकर इंटरनेट का लोकतंत्रीकरण किया है। हमारे उपयोगकर्ताओं में लाखों कलाकार, कहानीकार और शिक्षक हैं जो अपनी आजीविका के लिए टिकटॉक पर निर्भर हैं, इनमें से कई पहली बार इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि बीते दिनों खुफिया एजेंसियों ने केंद्र सरकार को 52 चीनी एप्स को लेकर अलर्ट किया था जिसके बाद सरकार ने सोमवार देर रात बयान जारी कर इन 52 एप्स समेत 59 चीनी एप्स को भारत में प्रतिबंधित कर दिया है।