Chhattisgarh: कोंडागांव में दिखा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का गोलगप्पा प्रेम

कोंडागांव की बंधा तालाब चौपाटी पर सीएम ने खाया गोलगप्पा, सोशल मीडिया पर बोले, वक्त और गुपचुप दोनों ही खाली होते हैं, स्वाद इस बात पर निर्भर करता है कि आप उसमें क्या भर रहे हैं

Updated: Jan 27, 2021, 02:25 PM IST

Chhattisgarh: कोंडागांव में दिखा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का गोलगप्पा प्रेम
Photo Courtesy: twitter

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को कांकेर दौरे पर हैं। वे यहां 342 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे। इनमें कृषक छात्रावास, बॉयज हॉस्टल और धान प्रोसेसिंग यूनिट भी शामिल है। वे कोमलदेव जिला अस्पताल में सीटी स्केन मशीन का लोकार्पण भी करेंगे।

अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान मुख्यमंत्री बघेल कांकेर के नरहरपुर के श्रीगुहान गांव में गोठानों निरीक्षण कर लाभार्थियों को सामान वितरित करेंगे और महिला स्व-सहायता समूहों से चर्चा भी करेंगे। इस दौरान वे कई विकास और निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। इनमें 94 करोड़ के 95 कार्यों का लोकार्पण और 248 करोड़ रुपए के 74 कार्यों का भूमिपूजन शामिल है। 

मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर के दौरे पर थे, वहां गणतंत्र दिवस पर उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की। वे कोंडागांव में बंधा तालाब की चौपाटी भी पहुंचे। इस दौरान उनकी एक नायाब तस्वीर सामने आई है। जिसमें वे आम लोगों की तरह लाइन में लगकर गोलगप्पे याने पानी पूरी का आनंद लेते नजर आए। छत्तीसगढ़ में गोलगप्पे को गुपचुप भी कहा जाता है। मुख्यमंत्री ने अपने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हुए वक्त और गुपचुप की तुलना की है और सलाह दी है कि वक्त को सार्थक चीजों से भरें।

 

 इस दौरान पानी पूरी का स्वाद लेने में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मंत्री, सांसद और विधायक भी मौजूद थे।गौरतलब है कि कोंडागांव में मुख्यमंत्री ने 03 करोड़ 14 लाख की लागत से बनी शिल्प नगरी का लोकार्पण किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ की समृद्ध कला और संस्कृति को प्रदेश की पहचान बताया है। 

इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कई गौठानों की महिलाओं से मुलाकात की, उन्होंने बस्तर के मंगनार गौठान का निरीक्षण किया। यहां 3 करोड़ 14 लाख की लागत से बनी शिल्प नगरी का लोकार्पण किया।

एक कार्यक्रम को दौरान वे बच्चों के साथ शतरंज का आनंद लेते भी नज़र आए।