छत्तीसगढ़ के परिवहन और वन मंत्री मोहम्मद अकबर कोरोना संक्रमित

छत्तीसगढ़ में जारी है कोरोना का कहर, मंत्री मोहम्मद अकबर कोरोना संक्रमित, घर पर हुए आइसोलेट, डाक्टरों ने कहा चिंता की कोई बात नहीं, स्वास्थ्य ठीक है

Updated: Apr 07, 2021, 05:47 PM IST

छत्तीसगढ़ के परिवहन और वन मंत्री मोहम्मद अकबर कोरोना संक्रमित
Photo Courtesy: Bhaskar

रायपुर। छत्तीसगढ़ के परिवहन एवं वन मंत्री मोहम्मद अकबर कोरोना संक्रमित हो गए हैं। बुधवार को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फिलहाल वन मंत्री डॉक्टरों की सलाह पर होम क्वारंटाइन हो गए हैं। उन्होंने एंटीजन टेस्ट करवाया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मंत्री मोहम्मद अकबर ने एहतियात के तौर पर RTPCR टेस्ट भी करवाया है। उसकी रिपोर्ट नहीं आई है। मोहम्मद अकबर का कहना है कि वे ठीक हैं। फिलहाल उन्हें कोई बुखार नहीं है, उनका ऑक्सीजन लेवल भी सामान्य है।

गौरतलब है कि मगंलवार को गरियाबंद जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष ममता राठौर की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई थी। वे असम में कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार करने गई थीं। वहां से लौटने के बाद कोरोना संक्रमित हो गई थीं। वहीं छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उच्च शिक्षा, युवा कल्याण और खेल मंत्री उमेश पटेल और महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंडिया भी कोरोना की चपेट में आ चुकी हैं।

और पढ़ें: रायपुर में दस दिन का टोटल लॉकडाउन, 9 अप्रैल शाम से 19 अप्रैल सुबह तक सीमाएं सील रहेंगी

वहीं विधानसभा अध्यक्ष डाक्टर चरणदास महंत समेत कई बीजेपी और कांग्रेस विधायक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह भी कोरोना का इलाज करा चुके हैं। कई विधायक छत्तीसगढ़ विधान सभा के बजट सत्र के दौरान संक्रमित मिले थे। जिसकी वजह से सत्र को तय समय से पहले स्थगित कर दिया गया था।

और पढ़ें: गरियाबंद जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष ममता राठौर का कोरोना से निधन, असम से चुनाव प्रचार कर लौटी थीं कांग्रेस नेत्री

बता दें कि छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, बीते 24 घंटों में प्रदेश में 9921 ज्यादा कोरोना मरीज मिले थे। जिसके बाद सबसे ज्यादा संक्रमित जिले रायपुर में दस दिनों का टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। इस दौरान जिले में किराना दुकानों, शराब दुकानों औऱ निजी और सरकारी दफ्तरों को बंद रखने की फैसला लिया गया है। वहीं मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच चलने वाली बस सेवा फिलहाल स्थगित करने का फैसला लिया गया है। छत्तीसगढ़ में बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर मध्य प्रदेश परिवहन विभाग ने दोनों प्रदेशों के बीच संचालित होने वाली बसों को 15 अप्रैल तक बंद करने का फैसला लिया है।