एमपी के पूर्व उपमुख्यमंत्री प्यारेलाल कंवर के घर ट्रिपल मर्डर, बेटे, बहू और पोती की हत्या

मृतक हरीश कंवर के सगे भाई-भाभी पर लगा अपने ही भाई के परिवार की हत्या का आरोप, साले और उसके दोस्त ने की तीनों की हत्या, छह गिरफ्तार

Updated: Apr 22, 2021, 09:32 PM IST

एमपी के पूर्व उपमुख्यमंत्री प्यारेलाल कंवर के घर ट्रिपल मर्डर, बेटे, बहू और पोती की हत्या
Photo courtesy: news 18

कोरबा। अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे, बहू और पोती की हत्या के मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल संपत्ति विवाद में हरीश कंवर के पूरे परिवार की हत्या कर दी गई है। हत्या में शामिल शख्स हरीश के भाई का साला है। बताया जा रहा है कि हरीश ने किसी संपत्ति पर एक साल से कब्जा कर रखा था जोकि उनके भाई हरभजन कंवर की पत्नी को रास नहीं आ रहा था। जिसके कारण हरीश और हरभजन के बीच विवाद चल रहा था। जिसके बाद हरभजन की पत्नी ने अपने भाई के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और तीनों की हत्या करवा दी।

गिरफ्तार आरोपियों में मृतक हरीश कंवर के बड़े भाई हरभजन, पत्नी, साला परमेश्वर, दोस्त राम प्रसाद, परमेश्वर का बड़ा भाई, उसकी नाबालिग बेटी की गिरफ्तारी हुई है। इन पर हत्या और हत्या की साजिश के तहत केस दर्ज किया गया है।

गिरफ्तार आरोपियों में मृतक हरीश कंवर के बड़े भाई हरभजन, पत्नीधनकुंवर , साला परमेश्वर, दोस्त राम प्रसाद, परमेश्वर का बड़ा भाई, उसकी नाबालिग बेटी की गिरफ्तारी हुई है। इन पर हत्या और हत्या की साजिश के तहत केस दर्ज किया गया है।

यह ट्रिपल मर्डर उरगा थाना क्षेत्र के भैसमा में बुधवार तड़के हुआ था। आरोपियों ने प्यारे लाल कंवर के बेटे हरीश कंवर, पत्नी सुमित्रा कंवर और चार साल की बेटी आशी की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। गिरफ्तार आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है। हरभजन के साले ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। उरगा थाना पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है। कोरबा के एसपी अभिषेक मीना से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी परमेश्वर कंवर वारदात के दौरान घायल हो गया था। जिसके बाद वह करतला के उपस्वास्थ्य केंद्र में इलाज करवाने पहुंचा था। पुलिस ने दूसरे आरोपी को जांजगीर चांपा जिले से पकड़ा है। इसमे वहां की नगरदा पुलिस की मदद ली गई है।

पुलिस का कहना है कि हरभजन की पत्नी धनकुंवर और उसके भाई परमेश्वर ने इस हत्या की पूरी प्लानिंग की थी। जिसके लिए बुधवार तड़के का वक्त तय किया गया था। इसे लेकर पुलिस को उनके मोबाइल से कई सुराग हाथ लगे। जब सुबह हत्या का आरोपी परमेश्वर हरीश कंवर के घर के पास पहुंचा तो उसने हरभजन की नाबालिग बेटी को मैसेज करके इसकी जानकारी दी। तभी मृतक का बड़ा भाई सुबह टहलने के बहाने से घर से बाहर चला गया। तब उस नाबालिग बच्ची ने अपने मामा को मैसेज किया कि पापा चले गए आप आ जाओ।

हत्याकांड का अन्य आरोपी रामप्रसाद वारदात के दौरान घायल हो गया था। उसके शरीर पर चोट के निशान भी मिले हैं। वहां लगे CCTV में भी दोनों नजर आए थे। मृतक की मां ने हत्यारों को देख लिया था। मां को देखते ही आरोपी उन्हें धक्का देकर भाग गए थे। पुलिस ने परमेश्वर और रामप्रसाद को नशे की हालत में पाया था। शातिर आरोपी परमेश्वर ने सबूत मिटाने के लिए उस दौरान पहने कपड़ों को जला दिया था। और करतला अस्पताल में भर्ती हो गया था। अन्य आरोपी ने हत्या में उपयोग किए हथियार तालाब में फेंक दिए थे। फिलहाल पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद से पूर्व उपमुख्यमंत्री प्यारेलाल कंवर की 82 वर्षीय पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है।