छत्तीसगढ़: कोरोना काल के बीच सरकार का फैसला, 10 मई से शराब की होगी ऑनलाइन डिलिवरी

छत्तीसगढ़ में शराब अब ऑनलाइन बुक की जा सकेगी। बाकायदा इसकी होम डिलीवरी होगी। शनिवार देर रात सरकार ने इसके आदेश जारी कर दिए। अब सोमवार से यह व्यवस्था शुरू हो जाएगी।

Updated: May 09, 2021, 10:40 AM IST

छत्तीसगढ़: कोरोना काल के बीच सरकार का फैसला, 10 मई से शराब की होगी ऑनलाइन डिलिवरी
Photo courtesy: zee news

रायपुर। कोरोना वायरस की चेन तोडने के लिए देश के ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन लगा है। लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें भी बंद हैं। प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने बताया कि बीते दिनों छत्तीसगढ़ में सैनिटाइजर और जहरीली शराब पीने की वजह से कई लोगों की मौत हो गई थी। इसे देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन के दौरान शराब की ऑनलाइन होम डिलीवरी करने का फैसला लिया है। इसकी शुरुआत 10 मई से हो रही है। इसे लेकर सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है।

मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि प्रदेश में दो महीने तक लॉकडाउन  लगा है। ऐसे में बार, शराब की दुकानें बंद रखी गई हैं। अवैध मदिरा निर्माण, विक्रय और परिवहन पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश में मदिरा की ऑनलाइ होम डिलीवरी की व्यवस्था 10 मई 2021 से शुरू की जा रही है। शराब की होम डिलीवरी के लिए उपभोक्ताओं को एप के जरिए बुकिंग करनी होगी। 

उन्होंने बताया कि डिलीवरी बॉय के माध्यम से शराब की ऑनलाइन डिलीवरी सुबह नौ बजे से लेकर रात्रि आठ बजे तक की जा सकेगी। स्थानीय स्तर पर आवश्यकतानुसार जिले के कलेक्टर समय में वृद्धि और कमी कर सकते हैं। वहीं, होम डिलीवरी करने वाले दुकानों का निर्धारण छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉरपोरेशन लिमिटेड की तरफ से किया गया है।

शराब की ऑनलाइन डिलीवरी के लिए उपभोक्ताओं को भुगतान पहले करना होगा। अग्रिम भुगतान के बाद ही शराब की डिलीवरी की जाएगी। डिलीवरी बॉय को इसके लिए कार्ड भी जारी किया जाएगा।


मंत्री कवासी लखमा ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि उपभोक्ता शराब की ऑनलाइन डिलीवरी के लिए एप से बुकिंग करेंगे। एप का नाम CSMCL Online है। इसके लिए ग्राहकों को अपना मोबाइल नंबर, आधार कार्ड और पूरा पता देना होगा। इन चीजों को डालने के बाद ग्राहकों शराब की कीमत और ब्रांड दिखने लगेगा। वहीं, 15 किलोमीटर के रेंज में एक शराब दुकान डिलीवरी देगा। इसके लिए लोगों को 100 रुपये तक अतिरिक्त चार्ज भी देना होगा।

गौरतलब है कि राजधानी रायपुर में लालगंगा मॉल के पीछे की बस्ती में इसी सप्ताह सैनिटाइजर पीने की वजह से 2 युवकों की मौत हुई है। वहीं, बिलासपुर में भी शराब में कफ सिरप मिलाकर पीने से 9 लोगों की मौत हो गई थी। पिछले साल लॉकडाउन के दौरान भी रायपुर में तीन युवकों की ऐसी ही मौत हुई थी। इसके बाद सरकार ने ऑनलाइन शराब डिलीवर करने का फैसला लिया था।