प्याज, लहसुन के बाद अब सोयाबीन ने भी किसानों को धोखा दिया, मुआवजा दे सरकार: कुणाल चौधरी

कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने कहा कि मिट्टी खरीदने की निराधार बातें करने वाले मुख्यमंत्री फिलहाल सोयाबीन खरीद कर किसानों को उनका हक दीजिए।

Updated: Oct 08, 2022, 09:18 AM IST

प्याज, लहसुन के बाद अब सोयाबीन ने भी किसानों को धोखा दिया, मुआवजा दे सरकार: कुणाल चौधरी

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई जिलों में अतिवर्षा के कारण सोयाबीन के किसानों की फसल बर्बाद होने की कगार पर पहुँच गई है। कालापीपल विधानसभा क्षेत्र के विधायक कुणाल चौधरी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से जल्द से जल्द किसानों को मुआवज़ा राशि प्रदान करने की मांग है। उन्होंने कहा कि लहसुन और प्याज के बाद अब सोयाबीन ने भी किसानों को धोखा दे दिया।

कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने अपने क्षेत्र के सोयाबीन किसानों का दर्द एक वीडियो के माध्यम से साझा किया है। कुणाल चौधरी अपने वीडियो संदेश में एक खेत के निकट खड़े हुए दिखाई दे रहे हैं। जिसमें वे सोयाबीन किसानों की समस्या को साझा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि, '12 हजार रुपए क्विंटल बीज लेकर किसानों ने बोवनी की थी। 4 हजार रुपए खाद के लगे। लेकिन अब सोयाबीन किसानों को 3 हजार रुपए क्विंटल भी उपज पर नहीं मिल रहा। किसानों का जीवन नरक हो गया है। वे कर्ज के दुष्चक्र में फंसते जा रहे हैं।'

कुणाल चौधरी ने ट्वीट में लिखा कि, 'मिट्टी खरीदने की निराधार बातें करने वाले मुख्यमंत्री शिवराज जी, फिलहाल सोयाबीन खरीद कर किसानों को उनका हक दीजिए। प्याज, लहसुन के बाद अब सोयाबीन ने भी किसानों को धोखा दे दिया, किसान अपनी जमा पूंजी बहुत पहले ही गंवा चुके हैं, इस समय कर्ज लेकर बोई गई फसल बर्बाद हुई है। इसलिए बड़े-बड़े बयान नहीं,अब किसानों को मुआवजा देने समय है।'

यह भी पढ़ें: अब गाय से टकराई वंदे भारत एक्सप्रेस, फिर डैमेज हुआ आगे का हिस्सा, दो दिन में दूसरी ऐसी घटना

कांग्रेस विधायक ने आगे कहा कि, 'किसानों के कर्ज़ को कांग्रेस ने माफ करके खेती आसान की थी, लेकिन भाजपा सरकार ने 12 हज़ार का बीज और लगभग 4 गुना महंगी खाद करके किसानों का जीवन नरक कर रखा हैं, ऊपर से बयानबाज मुख्यमंत्री सिर्फ खोखले वादे करते फिर रहे हैं। मैं मुख्यमंत्री शिवराज जी से आग्रह करता हूँ कि कालापीपल सहित पूरे प्रदेश के किसानों को बिना देरी किये तुरन्त मुआवजा दिया जाए।'

यह भी पढ़ें: मंडियों में नए सोयाबीन की आवक शुरू, लागत मूल्य निकालने की जद्दोजहद, फीकी हुई पीले सोने की चमक

कुणाल चौधरी ने हम समवेत को बताया कि मौजूदा वक्त में केवल उनके ही क्षेत्र का नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का किसान सरकार के रवैये से परेशान है। कुणाल चौधरी ने कहा कि पहले किसानों को अमानक बीज महंगी दरों पर खरीदने पर मजबूर होना पड़ा। और अब जब उनकी फसल बर्बाद होने की स्थिति में पहुँच गई तो सरकार ने किसानों से अपना मुंह फेर लिया। कांग्रेस विधायक ने कहा कि अगर राज्य सरकार ने किसानों के प्रति यह असंवेदनशील रुख अपनाए रखा तो जल्द ही कांग्रेस पार्टी शिवराज सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ मैदान में उतरेगी।