जंगली जानवरों द्वारा फसल की बर्बादी होने पर किसानों को 5 हज़ार रुपए का मुआवज़ा देगी सरकार

राज्य सरकार ने वन्यजीवों के द्वारा फसल को नुकसान पहुंचाए जाने को प्राकृतिक आपदा की श्रेणी में शामिल कर लिया गया है

Updated: Mar 05, 2021, 06:03 PM IST

जंगली जानवरों द्वारा फसल की बर्बादी होने पर किसानों को 5 हज़ार रुपए का मुआवज़ा देगी सरकार

भोपाल। मध्यप्रदेश में अब अगर जंगली जानवर किसानों की फसल को नुकसान पहुंचाएंगे तो राज्य सरकार किसानों के हुए नुकसान की भरपाई करेगी। शिवराज सरकार ने यह निर्णय लिया है कि जिन किसानों की फसल वन्यजीव प्राणियों द्वारा बर्बाद की जाएगी, ऐसे पीड़ित किसानों को राज्य सरकार पांच हज़ार रुपए आर्थिक मुआवज़े के तौर पर देगी। राज्य सरकार ने जंगली जानवरों द्वारा फसल की बर्बादी की जाने को प्राकृतक आपदा में शामिल कर लिया है। 

यह भी पढ़ें : Wild Boar: जंगली सूअर को दरिंदा घोषित करो, केरल के किसानों ने हाई कोर्ट में दायर की याचिका

दरअसल पहले यह प्रावधान प्राकृतिक आपदा के दायरे में नहीं आता था। इससे पहले जब किसानों की फसल प्राकृतिक आपदा के कारण बर्बाद हो जाती थी, ऐसी स्थिति में ही किसानों को आर्थिक मुआवज़ा मुहैया कराया जाता था। लेकिन अब राज्य सरकार के इस फैसले से उन किसानों की परेशानी ज़रूर कम हो जाएगी जो कि जंगली इलाकों में खेती करते हैं।  

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश में हर शासकीय कार्यक्रम से पहले कन्या पूजन, मुख्यमंत्री की घोषणा पर अमल की योजना

मध्यप्रदेश के जंगली इलाकों में फसल उपजाने वाले किसानों के सामने सबसे बड़ी समस्या जंगली जानवरों से ही जुड़ी हुई होती है। हर साल इन किसानों को काफी भारी नुकसान झेलने पद मजबूर होना पड़ता है। बदले में उन्हें सरकार की ओर से किसी तरह की सहायता नहीं मिलती थी। लेकिन सरकार के इस फैसले से जंगली इलाकों में खेती करने वाले किसान ज़रूर चैन की सांस लेंगे।