MP: किसानों के ट्रैक्टर व बाइक कुर्क कर रहा है बिजली विभाग

PC Sharma : कमलनाथ सरकार में 100 रुपये बिजली बिल आता था अब स्लम एरिया में भी आ रहा 97 हजार का बिल

Updated: Jul-25, 2020, 01:11 AM IST

MP: किसानों के ट्रैक्टर व बाइक कुर्क कर रहा है बिजली विभाग

भोपाल। कोरोना महामारी के चलते किसान पहले ही परेशान हैं। फिर ज़्यादा बिजली बिलों ने उनकी नींद उड़ा दी है। अब रायसेन जिले में बिजली विभाग के अधिकारियों ने बिल जमा करने में असक्षम किसानों की वाहनों को जब्त करने को कहा है। जिले के उदयपुरा तहसील में विभाग ने बिल वसूली के लिए किसानों के ट्रैक्टर और मोटरसायकिल जब्त किए हैं।

इस मामले पर मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शिवराज सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने शिवराज सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा है कि संबल योजना में आने वाले हितग्रहियों का बिल हजारो में आ रहा है। उन्होंने कहा कि, '20 मॉर्च को मप्र तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा के बाद से शिवराज सरकार के आते ही प्रदेश में लॉकडाउन लग गया। इसके वजह से कंपनियां बंद हो गई बावजूद इसके बिजली के बिल ने कहर मचा दिया है। कमलनाथ ने सरकार बनते ही बिजली की बिल में कटौती की थी जिसके बाद 100 रुपये बिल आता था। लेकिन अब स्लम एरिया में भी 97 हजार का बिल आ रहे हैं।'

 

उन्होंने आरोप लगाया है कि सीएम शिवराज संबल योजना चालू कर 200 रुपए में बिजली देने का वादा किया था लेकिन उपभोक्ताओं को बिना रीडिंग के ज्यादा बिल दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा, 'संबल योजना के हितग्रहियों के भी बिजली का कनेक्शन काटा जा रहा है। ऐसे में गरीब, मजदूर और किसान पेट काटकर बिजली का बिल भरने को मजबूर हैं। लॉक डाउन के दौरान कंपनियों और व्यापारियों की बिजली खपत कम हो गई थी जिससे बिजली कंपनियों को 500 करोड़ का नुकसान हुआ। शिवराज सरकार इस नुकसान की भरपाई आम लोगों से कर रही है।' उन्होंने मांग किया है कि प्रदेश सरकार शीघ्र किसानों और गरीबों का बिजली बिल माफ करे।