वैश्विक स्तर पर फिर बढ़े कोरोना के मामले, एक हफ्ते में 30 लाख सामने आए केस

बीते हफ्ते कोरोना के कारण होने वाली मौतों में 3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, वहीं संक्रमण के मामलों में दस फीसदी दर्ज की गयी है

Updated: Jul 15, 2021, 06:40 PM IST

वैश्विक स्तर पर फिर बढ़े कोरोना के मामले, एक हफ्ते में 30 लाख सामने आए केस

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। बीते हफ्ते कोरोना के मामलों में दस फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। जबकि मौत के आंकड़े में भी तीन फीसदी का इज़ाफा हुआ है। अचानक बढ़े कोरोना के मामलों के कारण स्थिति चिंताजनक हो गई है।  

एक हफ्ते में 55 हज़ार से ज़्यादा गईं जाने 
दुनिया भर में पिछले एक हफ्ते में 55 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है। जबकि कोरोना के तीस लाख से अधिक मामले दुनिया भर में आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना के सबसे ज़्यादा मामले भारत, ब्राज़ील, ब्रिटेन और इंडोनेशिया में आए हैं। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना के मामलों में यह तेज़ी नौ हफ्ते बाद आई है।      

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के मामले अब तक कुल 111 देशों में आ चुके हैं। डब्लयूएचओ ने आगामी दिनों में कोरोना के इसी वैरिएंट के सबसे ज़्यादा मामले सामने आने की आशंका व्यक्त की है। डब्ल्यूएचओ ने यह साफ कहा है कि कई देशों में आने वाले समय में कोरोना के मामले बढ़ने वाले हैं और साथ ही अस्पतालों में मरीज़ों और मौतों की संख्या में इज़ाफा होने वाला है। 

WHO के दावे के मुताबिक कोरोना का डेल्टा वेरिएंट तो अफ्रीका के 21 देशों में फैल चुका है। जिसकी वजह से इन देशों में कोविड से हुई मौत के आंकड़ों में 43 फीसदी का इज़ाफा हुआ है। डब्लूएचओ ने कहा है कि अफ्रीका विनाशकारी राह पर है। अफ्रीका में डब्लूएचओ की रीजनल डायरेक्टर, डॉक्टर मत्शीडिशो मोएती के मुताबिक, अफ्रीका के दस देशों में अस्पतालों में भर्ती होने वालों की तादाद तेज़ी से बढ़ी है। पांच प्रमुख देश जिसमें कि दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया और ज़ाम्बिया भी हैं, वहां तो आईसीयू बेड्स की कमी भी सामने आ रही है। इन देशों में ऑक्सीजन की जरूरत सबसे पहली प्राथमिकता बनी हुई है।

ऑस्ट्रेलिया के शहर मेलबर्न में भी पांच दिनों का लॉकडाउन लगा दिया गया है। गुरूवार रात से लगा ये लॉकडाउन इलाके में बढ़ रहे कोविड के मामलों को देखते हुए लगाया गया है। मेलबर्न ऑस्ट्रेलिया का दूसरा सबसे बड़ा शहर है।