बाइडेन की चीन को चेतावनी, खतरे से खेल रहा है चीन, ताइवान पर हमला किया तो हम भेजेंगे फौज

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बोला है कि अग 'चीन ने ताइवान पर हमला किया तो अमेरिका ताइवान की सैन्य मदद करेगा, चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है जबकि ताइवान खुद को एक स्वतंत्र देश की तरह देखता है

Updated: May 23, 2022, 04:34 PM IST

बाइडेन की चीन को चेतावनी, खतरे से खेल रहा है चीन, ताइवान पर हमला किया तो हम भेजेंगे फौज

रूस-यूक्रेन जंग के बीच ताइवान को डराने के लिए सीमा पर सैनिक डिप्लॉय करने वाले चीन को अब अमेरिका ने खुली चेतावनी दी है। अमेरिका ने कहा है कि ताइवान के मामले पर चीन खतरे से खेल रहा है। अमेरिका ने स्पष्ट किया है कि यदि चीन ताइवान पर हमला करता है तो अमेरिका अपनी फौज उतारेगा।

 क्‍वाड बैठक में हिस्‍सा लेने जापान पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक बैठक में कहा कि अगर चीन की ओर से ताइवान पर हमला किया जाता है तो अमेरिका मिलिट्री एक्शन लेगा। उन्होंने कहा कि ताइवान की सीमा पर घुसपैठ करके चीन खतरा मोल ले रहा। बाइडेन ने कहा क‍ि यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद ताइवान की रक्षा की जिम्‍मेदारी और ज्‍यादा बढ़ गई है। अगर चीन हमला करता है तो अमेरिका सैन्य मदद के जरिए ताइवान की रक्षा करेगा। 

यह भी पढ़ें: बिहार में सियासी उथलपुथल के संकेत, JDU विधायकों को अगले 72 घंटे पटना में ही रहने का फरमान

दरअसल, ताइवान रिलेशन एक्‍ट के मुताबिक अमेरिका ताइवान की रक्षा करने के लिए बाध्‍य है। यही वजह है कि अमेरिका ताइवान को हथियारों की आपूर्ति करता है। बैठक में बाइडेन से सवाल किया गया कि अगर चीन ताइवान पर कब्‍जे के लिए ताकत का इस्‍तेमाल करता है तो क्या अमेरिका सैन्य हस्तक्षेप करेगा? इसके जवाब में जो बाइडेन ने कहा- हमने यही वादा किया था। हम वन चाइना पॉलिसी पर राजी हुए, हमने उस पर साइन किया, लेकिन यह सोचना गलत है कि ताइवान को बल से छीना जा सकता है।

दरअसल, चीन ताइवान को धमकी दे चुका है कि "ताइवान की स्वतंत्रता" का अर्थ युद्ध होगा। चीन ने सीमा पर भरी संख्या में सेना और आधुनिक हथियारों को भी डिप्लॉय कर सकता है। चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है, जबकि ताइवान खुद को एक स्वतंत्र देश की तरह देखता है। चीन हमेशा इस फिराक में रहता है कि किसी तरह ताइवान को अपना हिस्सा बनाया जाए। चीन, यूक्रेन में हो रही जंग का फायदा उठाकर ताइवान पर हमला कर सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शी जिनपिंग की इस साजिश को भांपते हुए चेतावनी दी है।