कौआ उड़-तोता उड़ के खेल में हुई बड़ी चूक, उड़ गए सिंधिया के खास मंत्री गोविंद सिंह राजपूत

शिवराज सरकार के एक साल पूरा होने की पूर्व संध्या पर बीजेपी ने आयोजित किया कौआ उड़, तोता उड़ और मैना उड़ का खेल, खेल-खेल में हुई गलती की वजह से खुद के पार्टी के मंत्री को उड़ाया

Updated: Mar 23, 2021, 05:15 PM IST

कौआ उड़-तोता उड़ के खेल में हुई बड़ी चूक, उड़ गए सिंधिया के खास मंत्री गोविंद सिंह राजपूत
Photo Courtesy : NewsliveMP

भोपाल। बीजेपी राज्य में शिवराज सरकार के एक साल पूरा होने पर जश्न में डूबी हुई है। राज्य भर में इस मौके पर समारोह आयोजित किए गए हैं। इसी बीच बीजेपी के एक कार्यक्रम में शिवराज सरकार में मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को उड़ाए जाने का वीडियो वायरल हो रहा है। जी हां, खेल-खेल में बीजेपी नेताओं ने सिंधिया के सबसे करीबी मंत्री गोविंद सिंह को ही उड़ा दिया।

बताया जा रहा है की शिवराज सरकार के एक साल पूरा होने की पूर्व संध्या पर बीजेपी नेता व भोपाल के पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए कौआ उड़, तोता उड़, मैना उड़ खेल का आयोजन किया था। इस दौरान खेल-खेल में शर्मा जी भावुक होकर एक बड़ी चूक कर गए और काांग्रेस नेताओं के साथ 'गोविंद सिंह राजपूत उड़' को भी उड़ा दिया।

दरअसल, पूर्व की कमलनाथ सरकार और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों का इस कार्यक्रम में मजाक उड़ाया जा रहा था। खेल में चिड़ियां उड़ाने के बाद आलोक शर्मा कहते हैं कि कमलनाथ की अलीबाबा और चालीस चोरों वाली सरकार थी। इसके बाद वे एक-एक कर कांग्रेस नेताओं का नाम लेते हैं और कार्यकर्ता उड़ बोलकर उन्हें उड़ाते हैं। इस दौरान वे भूल गए कि कमलनाथ के कुछ मंत्री आज बीजेपी सरकार में भी मंत्री हैं और गोविंद सिंह राजपूत को भी उड़ा बैठे। फिर क्या था कार्यकर्ताओं ने भी एक स्वर में उड़ बोलकर उन्हें उड़ा ही डाला।

इस खेल के दूसरे दिन इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो के वायरल होने के बाद मध्यप्रदेश के सियासी हलकों में हलचल है। सिंधिया और उनके सहयोगियों की बदौलत सत्ता पाने वाली बीजेपी अब सिंधिया के सहयोगियों को उड़ाकर घिर गई है। जो कल पराए थे, आज उनके पाले में हैं लेकिन मन भेद मिटा नहीं है। कम से कम इस खेल खेल में यह नीयत तो सामने आ ही गई है। बहरहाल, मामले पर अबतक गोविंद सिंह राजपूत या फिर आलोक शर्मा की ओर से कोई सफाई नहीं आई है।

गलती या सुनियोजित निशाना

मामले पर मध्यप्रदेश कांग्रेस ने पूछा है कि ये गलती है या सिंधिया पर सुनियोजित निशाना। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया, 'सिंधिया समर्थक मंत्री को चोर बता रहे बीजेपी नेता। भोपाल के पूर्व महापौर आलोक शर्मा अली बाबा चालीस चोर के नाम बता रहे थे। नेता जी इतने जोश में थे कि अपनी ही सरकार के परिवहन मंत्री गोविद सिंह राजपूत को चोर बता बैठे। ये गलती है या सिंधिया पर सुनियोजित निशाना?'