भोपाल के रिवेरा टाउन में नगर निगम ने गरीबों की झुग्गियां तोड़ीं, महिलाओं पर लाठियां बरसाने का भी आरोप

कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने नगर निगम से पूछा, दूसरा इंतज़ाम किए बिना क्यों किया ग़रीबों को बेघर

Updated: Jan 04, 2021, 09:02 PM IST

भोपाल के रिवेरा टाउन में नगर निगम ने गरीबों की झुग्गियां तोड़ीं, महिलाओं पर लाठियां बरसाने का भी आरोप
Photo Courtesy : Twitter

भोपाल। भोपाल में आज नगर निगम ने भीषण सर्दी के मौसम में रिवेरा टाउन के पास झुग्गियों पर कार्रवाई करते हुए गरीबों को बेघर कर दिया। आरोप यह भी है कि नगर निगम की कार्रवाई के दौरान झुग्गियों में रहने वाले गरीब लोगों के ऊपर लाठी डंडे भी बरसाए गए। नगर निगम की इस कार्रवाई में एक महिला बेहोश भी हो गई। 

झुग्गी तोड़े जाने से बेघर हुई एक महिला ने स्थानीय मीडिया को बताया कि उसने घर के सभी कागज़ात नगर निगम के अफसरों को दिखाए। लेकिन जब वो नहीं माने तो उसने ये भी कहा कि मैं खुद अपने घर से सामान निकाल लेती हूँ। लेकिन उन्हें इस मौका देने की बजाय महिला अधिकारी ने ईंटों पर धकेल दिया। पीड़ित महिला ने बताया कि वो सुबह अपने बच्चे को इंजेक्शन लगवाने अस्पताल गई थी। जब वहां से लौटी तो देखा कि नगर निगम वाले उनके घर में घुसे हुए थे। घटनास्थल पर मौजूद एक अन्य महिला ने बताया कि नगर निगम के कर्मचारी ने उस पर डंडे बरसाए। नगर निगम की इस कार्रवाई के बाद एक महिला बेहोश भी हो गई। 

वैकल्पिक इंतज़ाम के बिना लोगों को बेघर क्यों किया : पीसी शर्मा 
नगर निगम की इस कार्रवाई की खबर मिलने पर घटनास्थल पर पहुंचे कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद ऐलान कर चुके हैं कि 2014 के पहले से रह रहे लोगों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी। फिर नगर निगम ने कोई वैकल्पिक व्यवस्था किए बिना भयानक ठंड और बारिश के बीच इन गरीबों को बेघर क्यों कर दिया? पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने स्थानीय मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि ये नगर निगम बिजली का पैसा जमा नहीं कर रही है, इसलिए स्ट्रीट लाइट्स बंद पड़ी हैं। पीसी शर्मा ने आरोप लगाया कि नगर निगम यहाँ रहने वाले लोगों से दो-दो हज़ार रुपए टैक्स के रूप में वसूल रही है। 

पीसी शर्मा ने कहा कि नगर निगम की यह कार्रवाई बर्बरता से भरी और अन्यायपूर्ण है। पीसी शर्मा ने कहा कि जब उन्होंने घटनास्थल पर मौजूद पुलिसकर्मियों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली तो पुलिस वालों ने कहा कि हमने किसी को हाथ नहीं लगाया, नगर निगम के कर्मचारियों ने खुद सारी कार्रवाई की है। पीसी शर्मा ने कहा कि वे जल्द ही नगर निगम के कमिशनर से मिलेंगे और इस अन्यायपूर्ण रवैये के खिलाफ आवाज़ उठाएंगे।