पुलिस के हत्थे चढ़े BJP नेता, पत्रकार और RPF आरक्षक, ट्रेन में व्यापारी से 3.5 लाख रुपए लूट मामले में गिरफ्तार

बीजेपी का पूर्व पार्षद, न्यूज चैनल का पत्रकार, GRFP आरक्षक समेत एक बिल्डर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, वाराणसी-एलटीटी एक्सप्रेस में सवार व्यापारी को फर्जी केस में फंसाने की धमकी देकर वसूली की

Updated: Oct 30, 2021, 03:11 PM IST

पुलिस के हत्थे चढ़े BJP नेता, पत्रकार और RPF आरक्षक, ट्रेन में व्यापारी से 3.5 लाख रुपए लूट मामले में गिरफ्तार
Photo Courtesy: MP breaking

भोपाल। रेलवे पुलिस ने नकली क्राइम ब्रांच के अफसर बनकर अवैध वसूली करने के 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में एक बीजेपी का पूर्व पार्षद, एक रेलवे पुलिस कॉन्स्टेबल, बिल्डर और पत्रकार भी शामिल है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इन पर जबलपुर के एक बिजनेसमैन से 3.5 लाख रुपए की लूट का आरोप है।

आरोपियों ने 22-23 अक्टूबर को जबलपुर के 35 वर्षीय व्यापारी कृष्णकांत गौतम को लूटा था। व्यापारी बिजनेस के सिलसिले में वाराणसी-एलटीटी एक्सप्रेस से मुंबई के लिए रवाना हुए थे। तभी बुरहानपुर रेलवे स्टेशन से पहले दो अजनबी उनके पास आए। दोनों ने खुद को क्राइम ब्रांच का अफसर बताया। आरोपियों ने व्यापारी को पहले तो खूब डराया और उसका आधार कार्ड और टिकट ले लिया।

इतना ही नहीं दोनों ने व्यापारी का बैग जबरदस्ती खुलवाया उसके बैग में 5 लाख रुपए थे, जिनमें 200 और 500 के नोट की गड्डियां थीं। आरोपियों ने व्यापारी को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर साढ़े 3 लाख रुपए वसूले और अगले स्टेशन पर उतर गए। जब व्यापारी मुंबई से वापस लौटा तो परिजनों औऱ दोस्तों से सारी घटना बताई, जिसके बाद फरियादी व्यापारी ने GRPF में शिकायत की व्यापारी की शिकायत पर रेलवे पुलिस हरकत में आई, आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया गया।

खंडवा GRP पुलिस ने टीम बनाकर आरोपियों तक पहुंचने में सफलता हासिल की। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने चारों को पकड़ लिया। दरअसल जबलपुर के GRPF का आरक्षक संदीप तिवारी, बिल्डर सौरभ शर्मा, एक न्यूज चैनल का संभागीय ब्यूरो चीफ सचिन राव और बीजेपी का पूर्व पार्षद नरेंद्र वर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने व्यापारी की रेकी की थी, जिसके बाद वे उसे ब्लैकमेल करने ट्रेन में पहुंचे थे। वहीं रेलवे स्टेशनों पर उनके CCTV फुटेज भी मिले हैं।