खनन रोकने गए पुलिसकर्मी को BJP नेत्री ने चप्पलों से पीटा, प्रशासन के कब्जे से जेसीबी और डंपर भी छुड़ा ले गए

मध्य प्रदेश में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद, चित्रकूट में अवैध खनन को रोकने पहुंची टीम पर बीजेपी नेत्री और उसके गुर्गों ने किया हमला, वीडियो में पुलिसकर्मी को चप्पलों से पीटते दिखी नगर पंचायत अध्यक्ष

Updated: Jan 17, 2023, 06:41 PM IST

खनन रोकने गए पुलिसकर्मी को BJP नेत्री ने चप्पलों से पीटा, प्रशासन के कब्जे से जेसीबी और डंपर भी छुड़ा ले गए

चित्रकूट। मध्य प्रदेश में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। राज्य में खनन माफियाओं द्वारा पुलिसकर्मियों पर लगातार हमले की खबरें आ रही है। हालिया मामला चित्रकूट का है। यहां अवैध खनन रोकने पहुंची पुलिस और राजस्व की टीम पर बीजेपी नेत्री व उसके गुर्गों ने हमला कर दिया। घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें बीजेपी नेत्री व नगर पंचायत अध्यक्ष साधना पटेल एक पुलिसकर्मी को चप्पलों से पीट रही है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नगर पंचायत क्षेत्र चित्रकूट के पथरा में सोमवार रात अवैध उत्खनन कर खनिज की चोरी की जा रही थी। सूचना मिलने पर तहसीलदार सुमित गुर्जर और थाना प्रभारी एचएल मिश्रा फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और उन्होंने जेसीबी मशीन और डंपर जब्त कर लिए। बताया जा रहा है कि खनन के काम में बीजेपी नेत्री साधना पटेल के गुर्गे लगे हुए थे। 

पुलिस कार्रवाई की सूचना मिलते ही साधना पटेल देर रात लगभग साढ़े 11 बजे अपने गुर्गों को लेकर पथरा पहुंच गई। यहां वह तहसीलदार, थाना प्रभारी के साथ अभद्रता करते हुए गाली गलौज करने लगी। विरोध करने पर आरक्षक श्यामलाल कोरी को चप्पलों से पीटा। इस दौरान तहसीलदार, थाना प्रभारी लगातार साधना पटेल को मर्यादा में रहने की समझाइश देते रहे, लेकिन वह गालियां देते हुए पुलिसकर्मी को चप्पल से पिटते रही।

बताया जा रहा है कि इस दौरान साधना पटेल के दर्जमभर गुर्गे पुलिसकर्मियों को घेर रखे हुए थे। उनके हाथ में लाठी, डंडे, कुल्हाड़ी समेत अन्य धारदार हथियार भी थे। इतना ही नहीं हथियार के दम पर उसके गुर्गे पुलिस के कब्जे से जब्त जेसीबी और डंपर भी छुड़ा ले गए। बताया जाता है कि नगर पंचायत क्षेत्र में साधना पटेल के लोग लंबे समय से अवैध खनन के कार्य में लिप्त हैं।

यह भी पढ़ें: जी भाई साहब जी: सीएम शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह के निवेश का रिटर्न क्‍या

साधना पटेल के भाई आदित्य पटेल, छोटू पटेल, अजय पटेल, सत्ताधारी दल से जुड़े होने का धौंस दिखा कर तमाम अवैध कामों की डीलिंग और मॉनिटरिंग करता है। वे अधिकारियों को भी अपनी पहुंच के बदौलत ट्रांसफर और सस्पेंड कराने की धमकी देता है। 

एसडीओपी चित्रकूट आशीष जैन ने बताया कि तहसीलदार सुमित गुर्जर की तरफ से आए आवेदन पर इस मामले में कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। प्रकरण में नगर पंचायत अध्यक्ष साधना पटेल, आदित्य पटेल, छोटू पटेल, बलराम रैदास, आशीष एवं अजय पटेल समेत आधा दर्जन से अधिक अन्य लोगों को आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।