खतरों से निपटने के लिए हर घर में लाइसेंसी अस्त्र-शस्त्र रखे जाएं: बीजेपी मंत्री का अजीबोगरीब सुझाव

मध्य प्रदेश की पर्यटन, अध्यात्म और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर बोलीं- भारत ही नहीं पूरे विश्व का होना चाहिए भगवाकरण, तभी मानवता के लिए सुख शांति आएगी

Updated: Sep 08, 2021, 09:48 AM IST

खतरों से निपटने के लिए हर घर में लाइसेंसी अस्त्र-शस्त्र रखे जाएं: बीजेपी मंत्री का अजीबोगरीब सुझाव

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार में पर्यटन, अध्यात्म और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने लोगों से लाइसेंसी हथियार रखने की अपील की है। बीजेपी मंत्री ने कहा है कि खतरों से निपटने के लिए हर घर में लाइसेंसी हथियार होना आवश्यक है। ठाकुर ने यह भी कहा है कि भारत का भगवाकरण होना जरूरी है। इतना ही नहीं उन्होंने तो यहां तक कहा की पूरे विश्व का भगवाकरण होना चाहिए, तभी मानवता के लिए सुख शांति आएगी।

बीजेपी मंत्री उषा ठाकुर मंगलवार को भोजपुर क्लब में राजपूत महापंचायत की महिला विंग द्वारा आयोजित नारी शक्ति कार्यक्रम में शाम होने पहुंचीं थीं। इस दौरान उन्होंने कहा, 'मौजूदा समय में बढ़ रहे खतरों से निपटने के लिए हर घर में लाइसेंसी अस्त्र-शस्त्र और शास्त्र रखे जाएं। घरों में महापुरुषों की तस्वीरें भी लगानी चाहिए। अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देना चाहिए। परिवार के स्वास्थ्य के लिए अध्यात्मिक शिक्षा और नियमित पूजा-हवन करने की आवश्यकता है।'

यह भी पढ़ें: PEB धांधली मामले में शिवराज सरकार की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने दो महीने के भीतर मांगी जांच रिपोर्ट

ठाकुर ने इस दौरान आरोप लगाया कि भारत को सही इतिहास से वंचित रखा गया है। उन्होंने कहा है कि अब देश को सही इतिहास बताने और पढ़ाने का समय आ गया है। उषा ठाकुर ने कहा, 'आजादी के बाद की किताबों में मुगलों का ज्यादा ही महिमामंडन किया गया है। हमें इतिहास में बाबर और गजनी को तो पढ़ाया गया, लेकिन राजपूतों की शौर्य गाथाओं को दबा दिया गया।'

उषा ठाकुर ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयानों का समर्थन करते हुए कहा कि आप इतिहास उठाकर देख लीजिए, मुस्लिमों की चौथी या पांचवीं पीढ़ी हिंदू ही होगी। उन्होंने MBBS कोर्स में संघ और जनसंघ के नेताओं की जीवनी शामिल करने के फैसले का स्वागत किया है। ठाकुर ने कहा है कि इन्हें पढ़ने के बाद सेवाभाव जागृत होती है। बीजेपी मंत्री ने इस दौरान भगवाकरण को जरूरी बताते हुए कहा कि पूरे विश्व का भगवाकरण करना चाहिए, तभी मानवता के लिए सुख शांति आएगी।