सागर: बहन की मौत के सदमे में जलती चिता पर लेटा भाई, झुलसने से हुई मौत

करन ने चचेरी बहन ज्योति के चिता पर दाह होते पार्थिव शरीर को प्रणाम किया और स्वयं जाकर जलती चिता पर लेट गया, जिससे उसकी मौत हो गई सभी परिजनों ने मृतक करन का अंतिम संस्कार चचेरी बहन ज्योति की चिता के पास ही किया।

Updated: Jun 13, 2022, 09:53 AM IST

सागर: बहन की मौत के सदमे में जलती चिता पर लेटा भाई, झुलसने से हुई मौत
Courtesy : NDTV

सागर। पति की मौत पर पत्नी के सती होने की कई घटनाएं भारतीय इतिहास का हिस्सा है लेकिन बहन की मौत पर सदमे में आकर जलती चिता पर लेटकर आत्महत्या की ये घटना मध्य प्रदेश के सागर में हुई है।

सागर में चचेरी बहन की मौत से दुखी भाई ने सदमे में आकर जलती चिता पर लेटकर आत्महत्या कर ली। भाई ने सबसे पहले चिता पर दाह होते बहन के पार्थिव शरीर को प्रणाम किया और फिर चिता पर लेट गया। जिसके कारण युवक बुरी तरह झुलस गया और अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। 

शुक्रवार को सागर जिले के ग्राम मझगुवां में 18 वर्षीय ज्योति की कुएं से पानी भरते समय पैर फिसलने से कुएं में गिरकर मौत हो गई थी। शनिवार को उसके परिजनों द्वारा अंतिम संस्कार किया गया। ज्योति के निधन की जानकारी मिलते ही धार में रहने वाले चचेरे भाई करन ने धार से बाइक चलाकर सीधा शमशाम स्थल पहुंचा। करन ने ज्योति की चिता को प्रणाम किया और चिता पर लेट गया।

यह भी पढ़ें: उत्तर पूर्वी राज्य मेघालय में सोमवार सुबह महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4 थी तीव्रता

सुबह 11 बजे परिजनों और ग्रामवासियों को ज्योति की चिता के पास करन का शरीर झुलसी हुई अवस्था में मिला। जब करन को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराने ले जाया जा रहा था तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। रविवार को करन का अंतिम संस्कार ज्योति की चिता स्थल के पास ही किया गया। मृतक करन का परिवार धार जिले के धरमपूरी तहसील के खलघाट गांव में रहता है।

बहेरिया थाना प्रभारी दिव्य प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि ज्योति उर्फ प्रीति की कुएं से पानी भरते समय पैर फिसलने से डूबकर मौत हो गई थी। इसके बाद उसका चचेरा भाई करन धार से मझगुवां पहुंचा और बहन की जलती चिता पर लेट गया। झुलसने से करन की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। दोनों मामलों में मर्म कायम कर जांच की जा रही है।