सीएम के बैडमिंटन खेलने पर कांग्रेस का तंज, बीजेपी में शिवराज जी से अच्छा खेल कोई नहीं खेल सकता

आरजीपीवी में खेल परिसर का लोकार्पण करने पहुँचे थे सीएम, बैडमिंटन में आज़माए दो-दो हाथ, कांग्रेस ने ली चुटकी

Publish: Jan 05, 2022, 03:15 PM IST

सीएम के बैडमिंटन खेलने पर कांग्रेस का तंज, बीजेपी में शिवराज जी से अच्छा खेल कोई नहीं खेल सकता

भोपाल। मध्य प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की तेज़ अटकलों के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान का बैडमिंटन खेलते एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में सीएम शिवराज बैडमिंटन कोर्ट में दो-दो हाथ आज़माते नज़र आ रहे हैं। कुर्सी मंडराते खतरे के बीच बैडमिंटन खेल रहे सीएम पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस ने कहा है कि पूरी बीजेपी में सीएम शिवराज जैसा कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं है। 

कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने सीएम के वीडियो को साझा करते हुए कहा कि कैलाश विजयवर्गीय ने जैसे ही प्रदेश की खेल मंत्री को मुख्यमंत्री बताया, वैसे ही शिवराज जी ने खेल खेलना शुरु कर दिया। वैसे भी शिवराज जी से अच्छा खेल तो पूरी भाजपा में कोई और व्यक्ति नहीं खेल सकता है।  

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में नवनीर्मित खेल परिसर का उद्धाटन करने पहुँचे थे। इसी दौरान अंतर विश्वविद्यालय बैडमिंटन टूर्नामेंट का भी उद्धाटन होना था। बैडमिंटन टूर्नामेंट का उद्धाटन करते हुए सीएम ने कोर्ट में बैडमिंटन खेलना शुरु कर दिया। इस दौरान खुद खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और विश्वविद्यालय के कुलपति भी मौजूद रहे।  

यह भी पढ़ें ः स्टेशन पर बिना मास्क पहने दिखे नरोत्तम मिश्रा और कमल पटेल, कांग्रेस बोली इनसे भी वसूला जाए जुर्माना

दूसरी तरफ प्रदेश में बीजेपी नेताओं के एक एक कर बयान सामने आ रहे हैं, जिससे प्रदेश के नेतृत्व में परिवर्तन के साथ-साथ बीजेपी में जारी गुटबाज़ी भी लगातार उजागर हो रही है। मंगलवार को कैलाश विजयवर्गीय ने सार्वजनिक मंच से खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को प्रदेश का मुख्यमंत्री बता दिया। हालांकि बीजेपी महासचिव ने तत्काल ही अपनी भूल तो सुधार ली, लेकिन इसके आगे उन्होंने यह कह डाला की कभी कभी कुछ बातें सच भी साबित हो जाती हैं।  

यह भी पढ़ें ः कैलाश विजयवर्गीय ने यशोधरा राजे को बताया प्रदेश का मुख्यमंत्री, सियासी अटकलें तेज़

वहीं नरोत्तम मिश्रा का हालिया दिल्ली दौरा अब भी प्रदेश के सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है। गोपाल भार्गव द्वारा तंज कसे जाने के बाद नरोत्तम मिश्रा खुद गोपाल भार्गव से मिलने उनके घर पहुँच गये। गोपाल भार्गव ने नरोत्तम मिश्रा पर तंज कसते हुए कहा था कि दिल्ली में लॉबिंग करने से कोई फायदा मिलने वाला नहीं है। उन्होंने नरोत्तम मिश्रा का बिना नाम लिये यह भी कहा था कि मैं दिल्लीवादी नेता नहीं हूँ।