कैलाश विजयवर्गीय ने यशोधरा राजे को बताया प्रदेश का मुख्यमंत्री, सियासी अटकलें तेज़

कैलाश विजयवर्गीय इंदौर में बास्केटबॉल प्रतियोगिता का उद्घाटन करने पहुंचे थे, इस दौरान उनकी ज़ुबान फिसल गई और उन्होंने खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को प्रदेश का मुख्यमंत्री करार दे दिया, हालांकि जुबान फिसलने के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने आगे जो बात कही, उसने प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की सुगबुगाहट और तेज़ कर दी है

Publish: Jan 05, 2022, 12:44 PM IST

कैलाश विजयवर्गीय ने यशोधरा राजे को बताया प्रदेश का मुख्यमंत्री, सियासी अटकलें तेज़

भोपाल। मध्य प्रदेश में सीएम शिवराज की मुख्यमंत्री की कुर्सी जाने की अटकलों के बीच कैलाश विजयवर्गीय ने कुछ ऐसा कह डाला है, जिसने एक बार फिर नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों को हवा दे दी है। कैलाश विजयवर्गीय ने एक कार्यक्रम के संबोधन के दौरान शिवराज सरकार में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को मुख्यमंत्री बता दिया। 

ज़ुबान फिसलने के कारण कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्य अथिति की जगह मुख्यमंत्री बोल दिया था। हालांकि इसके बाद कैलाश विजयवर्गीय ने जो बात कही, उसने सीएम शिवराज की कुर्सी पर मंडराते खतरे को सही साबित कर दिया। 

मंगलवार को कैलाश विजयवर्गीय इंदौर में बास्केटबॉल प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया भी मुख्य अथिति के रूप में मंच पर मौजूद थीं। उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कैलाश विजयवर्गीय के मुंह से मुख्य अतिथि की जगह मुख्यमंत्री निकल गया। 

कैलाश विजयवर्गीय ने अपनी भूल उसी वक्त जरूर सुधार ली, लेकिन इसके अगले ही पल उन्होंने कहा कि कहते हैं कि कभी कभी ऊपर से सप्तऋषि निकलते हैं, और वह कहते हैं कि ऐसा ही हो, ऐसा ही हो, ऐसा ही हो। अब मेरे मुंह से मुख्यमंत्री निकल गया और ऊपर से वो कह रहे हों, ऐसा ही हो, ऐसा ही हो। 

यह भी पढ़ें : गोपाल भार्गव के तंज के बाद मिलने पहुंचे नरोत्तम मिश्रा, बंद कमरे में हुई मुलाकात

कैलाश विजयवर्गीय का यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कैलाश विजयवर्गीय के इस वायरल बयान पर चुटकी लेते हुए कहा है कि प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच कैलाश विजयवर्गीय ने नया नाम उछाल दिया है। नरेंद्र सलूजा ने बिना ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए कहा कि भतीजे से जगजाहिर मनमुटाव के बीच विजयवर्गीय ने भुआ का नाम उछाल दिया है। प्रदेश में भुआ और भाई का अब नया गठबंधन हो गया है। 

मध्य प्रदेश की सियासत में बीते कुछ दिनों से नेतृत्व परिवर्तन की हलचल काफी तेज है। बीते रविवार को नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली दौरे ने इन अटकलों को और हवा दे दी थी। जिसके बाद पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने नरोत्तम मिश्रा पर तंज कसते हुए कहा था कि दिल्ली जा कर लॉबिंग करने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। गोपाल भार्गव के इस बयान के अगले ही दिन खुद नरोत्तम मिश्रा गोपाल भार्गव से मुलाकात करने उनके आवास पर पहुंच गए।