शिवराज की मंत्री उषा ठाकुर पर अवैध खुदाई में ज़ब्त जेसीबी जबरन छुड़ाने का आरोप, कांग्रेस ने माँगा इस्तीफ़ा

वन विभाग के अधिकारी ने मंत्री उषा ठाकुर के ख़िलाफ़ डकैती और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में FIR दर्ज करने की मांग की है, वायरल हुआ वन विभाग का पत्र

Updated: Jan 13, 2021, 12:54 AM IST

शिवराज की मंत्री उषा ठाकुर पर अवैध खुदाई में ज़ब्त जेसीबी जबरन छुड़ाने का आरोप, कांग्रेस ने माँगा इस्तीफ़ा

इंदौर। अक्सर विवादों में रहने वाली पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर पर अवैध खुदाई में जब्त जेसीबी और ट्रैक्टर ट्रॉली को जबरन छुड़वाकर गैरकानूनी तरीके से अपने साथ ले जाने का संगीन आरोप लगा है। इस संदर्भ में वन विभाग के अधिकारी ने उनके खिलाफ डकैती और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। सोशल मीडिया पर वन विभाग का आवेदन वायरल होने पर कांग्रेस ने उषा ठाकुर को मंत्री के पद से हटाने की मांग की है।

कांग्रेस प्रवक्ता नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘मंत्री को तत्काल पद से हटा कर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए, तंज कसते हुए कांग्रेस ने कहा है कि अवैध कार्यों को मंत्रियों का खुला संरक्षण, यह साबित हुआ।  

दरअसल इंदौर वन विभाग का एक पत्र सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें मंत्री उषा ठाकुर के खिलाफ डकैती और सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज करने की मांग की गई है। आरोप है कि मंत्री ने वन परिक्षेत्र में अवैध खुदाई में जब्त जेसीबी और ट्रैक्टर ट्रॉली को साथियों के साथ मिलकर जबरदस्ती छुड़वाया और उसे वहां से अपने साथ ले गईं।

इस पत्र में आवेदक राम सुरेश दुबे नाम का वनपाल है। यह पूरा मामला महू के बड़गौंदा वन क्षेत्र के आड़ा पहाड़ का बताया जा रहा है। जहां हाल ही में बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन की शिकायत मिली थी। खुदाई से निकली मुरम बिना परमीशन के सड़क निर्माण के लिए उपयोग की जा रही थी। शिकायत मिलने पर वन विभाग ने एक जेसीबी, ट्रैक्टर और ट्रॉली को जब्त किया और तीनों वाहनों को वन परिसर में खड़ा कर लिया। आरोप है कि मंत्री उषा ठाकुर और उनके 10-15 साथी उन्हें जबरन छुड़वा कर ले गए।