गणतंत्र दिवस पर इस बार नहीं दिखी मध्य प्रदेश की झांकी, कांग्रेस ने कहा, शिवराज ने प्रदेश की अस्मिता भी बेच दी

शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने झांकी के लिए आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की थीम भेजी थी, लेकिन केंद्र सरकार ने उसे नामंजूर कर दिया

Updated: Jan 27, 2021, 11:21 AM IST

गणतंत्र दिवस पर इस बार नहीं दिखी मध्य प्रदेश की झांकी, कांग्रेस ने कहा, शिवराज ने प्रदेश की अस्मिता भी बेच दी
Photo Courtesy: The Hans India

भोपाल। गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में निकाली गई झांकियों में इस बार मध्य प्रदेश की झांकी कहीं नज़र नहीं आई। दरअसल ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने इस बार झांकी के लिए जो थीम भेजी थी, उसे मोदी सरकार ने खारिज कर दिया। कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई ने इसे लेकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला है।

कांग्रेस ने शिवराज से पूछा है कि क्या उन्होंने अब मध्य प्रदेश की अस्मिता भी बेच दी है? कांग्रेस ने शिवराज की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि कुर्सी के लिए गद्दारों के बिकने वाले मनहूस दृश्य को ही झांकी में दिखा देते।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्विटर हैंडल पर इस मसले को उठाते हुए लिखा कहा, तीन साल में ऐसा पहली बार हुआ,गणतंत्र दिवस पर नही दिखी मध्य प्रदेश की झांकी। शिवराज जी,मध्यप्रदेश की अस्मिता भी बेच दी? 25 विधायक ख़रीदते और कुर्सी के लिये ग़द्दारों के बिकने वाले मनहूस दृश्यों के साथ आपके बनाये मध्यप्रदेश की असली झांकी दिखवा देते।

एक और ट्वीट में कांग्रेस ने लिखा, "शिव’राज से मध्यप्रदेश शर्मसार, —आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की थीम केंद्र द्वारा नामंजूर; मध्यप्रदेश के बड़बोले मुख्यमंत्री शिवराज आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की बात करते हैं परंतु केंद्र ने उनके “आत्मनिर्भर” को नामंज़ूर कर दिया। शिवराज जी, लफ़्फ़ाज़ी पकड़ी गई..?"

दरअसल इस मर्तबा मध्य प्रदेश सरकार की थीम को रक्षा मंत्रालय ने नामंजूर कर दिया। शिवराज सरकार ने आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश की थीम पर झांकी का प्रस्ताव और उसका स्केच भी तैयार करके भेजा गया था। लेकिन केंद्र ने मध्य प्रदेश की झांकी को नामंजूर कर दिया।