भ्रष्ट अधिकारियों की कुंडली तैयार कर रही है कांग्रेस, सरकार आते ही होगी जांच: जीतू पटवारी ने दी चेतवानी

प्रदेश में जब एक सरकारी क्लर्क के पास से 85 लाख रुपये नकद मिल सकते हैं तो बड़े अधिकारियों के पास कितनी बेनामी संपत्ति होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है: जीतू पटवारी

Updated: Aug 05, 2022, 06:32 PM IST

भ्रष्ट अधिकारियों की कुंडली तैयार कर रही है कांग्रेस, सरकार आते ही होगी जांच: जीतू पटवारी ने दी चेतवानी

भोपाल। मध्य प्रदेश में अधिकारियों पर लगातार सत्ताधारी दल के एजेंट के रूम में काम करने के आरोप लग रहे हैं। स्वयं हाईकोर्ट ने पन्ना कलेक्टर के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा कि वे पद पर रहने के लाया नहीं। इसी बीच अब विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा कि हम भ्रष्ट अधिकारियों की कुंडली बना रहे हैं। कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने अफसरों को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार आते ही उनकी जांच होगी।

प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने शुक्रवार को राजधानी भोपाल में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि, 'प्रदेश में जब एक सरकारी क्लर्क के पास से 85 लाख रुपये नकद मिल सकते हैं तो बड़े अधिकारियों के पास कितनी बेनामी संपत्ति होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। प्रदेश का हाल-बेहाल है और सरकार कर्ज ले लेकर घी पी रही है। एक ओर जनता का पैसा बर्बाद किया जा रहा है, वहीं आम जनता को मिलने वाली सुविधाओं से वंचित रखा जा रहा है।'

यह भी पढ़ें: MP में लंपी वायरस का दस्तक, अलर्ट और एडवाइजरी जारी, कमलनाथ ने जताई चिंता

उन्होंने अफसरों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार आने पर सबका हिसाब लिया जाएगा। साथ ही प्रदेश की भाजपा सरकार के मंत्री और प्रमुख सचिवों की संपत्ति की भी जांच की जाएगी। उन्होंने हाल ही में हुए नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर कहा कि प्रदेश में कलेक्टर गुलाम की भाषा बोल रहे हैं और भाजपा लोकतंत्र का लगातार गला घोंट रही है। 

पटवारी ने आगे कहा कि, 'देश-प्रदेश में महंगाई सबको दिखाई दे रही है, लेकिन तानाशाहों को नहीं दिख रही है। देश का लोकतंत्र खतरे में है, कांग्रेस पार्टी इसका देशभर मे विरोध करेंगी। भोपाल सहित पूरे प्रदेश में सत्ता के दम पर वोटिंग कराई गई है, देश की जांच एजेंसियों को गुलाम बनाया जा रहा है। विपक्ष को कमजोर किया जा रहा है, यह बीजेपी का मोदी मॉडल है। इन सभी मुद्दों को लेकर कांग्रेस सड़क पर उतरकर विरोध करेंगी।'

पटवारी ने आगे कहा कि, 'देश में नरेंद्र मोदी और प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान लोकतंत्र को जिंदा नही रहने देना चाहते हैं। भाजपा पैसे के दम पर सत्ता पर काबिज हुई और पूरे प्रदेश में प्रशासनिक अव्यवस्था के साथ विपक्ष को कुचल रही है। जनता का मत कांग्रेस के साथ और भाजपा के खिलाफ है। वर्तमान सरकार देश के लोकतंत्र को तानाशाही की ओर ले जाना चाहती है। प्रदेश सरकार को 20 साल से नेशनल हेराल्ड का मुद्दा याद नहीं आया? ईडी विपक्ष पर हमेशा कार्रवाई करती है, सत्ता और सत्ता में बैठे चापलूस अधिकारियों पर कार्रवाई क्यों नही होती?'