मामा तेरे राज में मच्छर खा गए रात में, बिजली अधिकारियों की उदासीनता पर भड़के विधायक का गाना

राजगढ़ में बिजली कम्पनी के कार्यालय में लोगों की समस्या लेकर पहुंचे थे विधायक, झांझ मंजीरे के साथ पहुंचे थे बिजली कार्यालय, एक भी अधिकारी नहीं था कार्यालय में मौजूद, बिजली कम्पनी के गेट पर लगा दिया ताला, दीवार पर लिखवाया, मामा तेरे राज में मच्छर खा गए रात में

Updated: Aug 31, 2021, 07:12 PM IST

मामा तेरे राज में मच्छर खा गए रात में, बिजली अधिकारियों की उदासीनता पर भड़के विधायक का गाना

राजगढ़। मध्य प्रदेश की जनता इस समय बिजली कटौती की समस्या से बेहाल है। जनता को हो रही इस समस्या को लेकर कांग्रेस ने शिवराज सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में कांग्रेस विधायक बापू सिंह तंवर आज जनता का दुखड़ा लेकर राजगढ़ में बिजली कम्पनी के कार्यालय पहुंचे थे। लेकिन कार्यालय में एक भी अधिकारी के मौजूद न रहने के कारण कांग्रेस विधायक भड़क गए। विधायक ने बिजली कार्यालय के गेट पर ताला जड़ दिया। 

विधायक मंगलवार दोपहर को झांझ मंजीरे के साथ बिजली कम्पनी के कार्यालय में पहुंचे थे। लेकिन अधीक्षण यंत्री संपूर्णानंद शुक्ल कार्यालय से नदारद रहे। अधीक्षण यंत्री  के साथ साथ अन्य अधिकारी भी कार्यालय में मौजूद नहीं थे। अधिकारियों की गैरमौजूदगी के कारण विधायक भड़क गए, और उन्होंने कार्यालय के गेट पर ताला जड़ दिया। 

गेट पर ताला जड़ने के बाद विधायक धरने पर बैठ गए।इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ कार्यालय के दीवार पर नारा लिख दिया, मामा थारा राज में, मच्छर खागिया रात में। कांग्रेस विधायक का आक्रोश यहीं नहीं थमा, उन्होंने अधीक्षण यंत्री संपूर्णानंद शुक्ल को फोन लगाया। 

और पढ़ें: कर्ज में डूबी सरकार, घाटे में बिजली कंपनियां, जनता के पैसों पर ऊर्जा मंत्री की राजशाही जारी

विधायक ने अधीक्षण यंत्री को फोन पर खरी खोटी सुनाते हुए कहा कि आप को यह भली भांति जानकारी थी कि हम आज आने वाले हैं, इसके बाद भी आप दफ्तर छोड़कर चले गए। आज जनसुनवाई का दिन है। जनता आपसे जवाब मांगने आई थी। लेकिन आपने जनता की समस्या को सुनना भी जरूरी नहीं समझा। आपको जवाब देना होगा।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद कांग्रेस विधायक बापू सिंह तंवर ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि उन्होंने एक दिन पहले ही अधीक्षण यंत्री को कार्यालय आने की सूचना दे दी थी। लेकिन इसके बाद भी अधिकारी कार्यालय में मौजूद नहीं थे। विधायक ने बताया कि क्षेत्र के किसान बिजली के बढ़े हुए बिलों के कारण परेशान हैं। ऊपर से बिजली की कटौती ने और परेशानी बढ़ा दी है। 

मध्य प्रदेश में बिजली कटौती की समस्या से परेशान जनता को सहारा देने के लिए कांग्रेस मैदान में उतर गई है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने शिवराज सरकार को जल्द से जल्द जनता को बिजली संकट से मुक्ति दिलाने के लिए कहा है। कमल नाथ ने शिवराज सरकार को चेतवानी देते हुए कहा है कि अगर जल्द ही जनता को बिजली संकट से मुक्ति नहीं मिली तो कांग्रेस पार्टी प्रदेश व्यापी आंदोलन करेगी। 

यह भी पढ़ें : गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने माना प्रदेश में बिजली संकट है समस्या, कांग्रेस ने पूछा कौन सच्चा कौन झूठा

वहीं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी आज मीडिया से बातचीत करने के दौरान प्रदेश में बिजली कटौती की बात स्वीकार ली है। गृह मंत्री ने प्रदेश में बिजली संकट को लेकर बारिश की कमी, कोयले की सप्लाई में कमी और प्लांट में तकनीकी खराबी को प्रमुख कारण के तौर पर गिनाया है। गृह मंत्री ने आश्वासन दिया है कि पांच दिनों के भीतर प्रदेश की जनता को इस समस्या से निजात मिल जाएगी।