त्योहारों पर कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, मप्र में इस महीने मिले मरीजों में से 45 प्रतिशत मामले भोपाल से

कोरोना का नया वेरियंट भी आय़ा सामने, इंदौर में नए वेरिएंट संक्रमित 7 मरीज मिले, लोगों से कोविड गाइड लाइन का पालन करने की अपील

Updated: Oct 25, 2021, 04:17 PM IST

त्योहारों पर कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, मप्र में इस महीने मिले मरीजों में से 45 प्रतिशत मामले भोपाल से
Photo Courtesy: Gavi, the Vaccine Alliance

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना एक बार फिर पैर पसार रहा है। इंदौर में नए वेरिएंट और भोपाल में अब तक मिले मरीजों की संख्या से चिंता बढ़ गई है। मध्यप्रदेश में अक्टूबर में अब तक कुल 197 कोविड 19 संक्रमित मिले हैं। जिसमें से करीब 89 कोरोना संक्रमित मरीज राजधानी भोपाल के हैं। याने अक्टूबर के कुल मरीजों में से 45 प्रतिशत मामले भोपाल से हैं। फिलहाल भोपाल में 89 मरीज रिकवर हो चुके हैं। राजधानी में एक्टिव मरीजों की संख्या 28 है। इस महीने में करीब एक दर्जन बार भोपाल में 4 से ज्यादा मरीज मिले।   

 प्रदेश में 19 से 23 अक्टूबर के बीच 10 जिलों में 49 नए पॉजिटिव केस दर्ज किए गए। भोपाल में 13, धार 10, इंदौर 9, होशंगाबाद 6, सागर 5 और नरसिंगपुर 2 संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं इंदौर में कोरोना के नए डेल्टा वेरिएंट से भी लोगों में डर है। बीते 24 घंटों में शहर में नए वेरिएंट के 7 मरीज मिले है। कोविड के नए डेल्टा वेरिएंट AY.4 से संक्रमित होने वाले मरीजों में 2 आर्मी ऑफिसर्स हैं। जिनकी पुष्टि नेशनल सेंटर ऑफ डिजास्टर कंट्रोल ने की थी, सितंबर में जांच के बाद रिपोर्ट अब आई है। 

खबरों की मानें तो इंदौर में मिला नया कोरोना वेरिएंट डेल्टा वैरिएंट का नया रूप है। इसके बारे में कहा जा रहा है कि यह न तो डेल्टा है और ना ही डेल्टा प्लस। यह AY.4 वेरिएंट महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश आने की बात कही जा रही है।

 मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इंदौर में मिला नया वेरिएंट पुराने वैरिएंट से भी तेज है। ऐसे में सरकार और प्रशासन लोगों से सतर्क रहने की अपील कर रहा है। त्योहारों के मौसम में लोगों को किसी भी भीड़ भाड़ वाली जगह से बचने और सावधान रहने की सलाह दी जा रही है। वहीं देशभर में कोरोना के 14,306 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का कुल आंकड़ा 3,41,89,774 पहुंच गया। एक्टिव मरीजों की संख्या 1,67,695 हो गई है। बीते 24 घंटों में 443 संक्रमितों की मौत के बाद मृतकों संख्या बढ़कर 4,54,712 पहुंच गई है।