Digvijaya Singh: छतरपुर में अवैध रेत उत्खनन, एनजीटी को लिखा पत्र

Illegal Mining in Chhatarpur: वर्षाकाल में सिर्फ रेत भण्डारण से रेत का परिवहन किया जाना चाहिए, छतरपुर में 48 खदानों में मशीनों द्वारा अवैध उत्खनन

Updated: Sep 10, 2020 01:40 PM IST

Digvijaya Singh: छतरपुर में अवैध रेत उत्खनन, एनजीटी को लिखा पत्र
प्रतीकात्मक फोटो Photo Courtesy: Bhaskar

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने छतरपुर जिले में किए जा रहे अवैध उत्खनन को लेकर राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (NGT) के अध्यक्ष को पत्र लिखा है। छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी ने मानसून के बाद भी उत्खनन किए जाने की शिकायत की थी। 

दिग्विजय सिंह ने इस पत्र में लिखा है कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के नियमों के अनुसार वर्षाकाल में सिर्फ रेत भण्डारण से रेत का परिवहन किया जा सकता है। परंतु  रेत ठेकेदार कंपनी आनंदेश्वर एग्रो लखनऊ द्वारा पूरे जिले की लगभग 48 खदानों से मशीनों द्वारा अवैध उत्खनन का कार्य किया जा रहा है।उन्होंने राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के अध्यक्ष से अनुरोध किया है कि उक्त शिकायत की जांच कराकर आवश्यक कार्रवाई के लिए संबधित लोगों को निर्देशित करें।

दिग्विजय सिंह पत्र

आपको बता दें कि रेत के अवैध उत्खनन को लेकर कांग्रेस पार्टी लगातार शिवराज सरकार को निशाना बना रही है।एक तरफ छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी लगातार रेत के अवैध उत्खनन के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं वहीं भिंड में पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह अवैध खनन के विरोध में नदी बचाओ यात्रा निकाल रहे हैं।