एक हफ्ते में इतने इंजेक्शन हो जाएंगे कि लेने वाले लोग कम पड़ जाएंगे, PWD मंत्री गोपाल भार्गव का दावा

प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट की ज़िम्मेदारी भी गोपाल भार्गव को सौंपी गई है, गोपाल भार्गव ने कहा है कि ऑक्सीजन प्लेटफॉर्म तैयार करने की ज़िम्मेदारी राज्य सरकार ने उन्हें सौंपी है, दस दिन के भीतर प्रदेश से ऑक्सीजन की किल्लत भी दूर हो जाएगी

Publish: Apr 25, 2021, 10:44 AM IST

एक हफ्ते में इतने इंजेक्शन हो जाएंगे कि लेने वाले लोग कम पड़ जाएंगे, PWD मंत्री गोपाल भार्गव का दावा
Photo Courtesy: News 18.com

भोपाल। प्रदेश में ऑक्सीजन और इंजेक्शन की भारी किल्लत के बीच शिवराज सरकार में मंत्री गोपाल भार्गव ने एक बड़ा दावा किया है। गोपाल भार्गव ने कहा है कि जल्द ही प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन इतनी मात्रा में उपलब्ध हो जाएगी कि इंजेक्शन लेने वाले लोग कम पड़ जाएंगे। गोपाल भार्गव ने इसके लिए एक हफ्ते की मोहलत मांगी है। मंत्री के दावे के मुताबिक दस दिन के बाद प्रदेश के किसी भी कोने में ऑक्सीजन और इंजेक्शन की किल्लत नहीं होगी। 

लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि राज्य सरकार ने ऑक्सीजन प्लेटफॉर्म तैयार करने की ज़िम्मेदारी उन्हें सौंपी है। जिसके ऊपर ऑक्सीजन के सिलेंडर सहित तमाम उपकरण रखे जाएंगे। गोपाल भार्गव की मानें तो यह काम एक हफ्ते से दस दिन के अंदर पूरा हो जाना चाहिए। 

यह भी पढ़ें : हर गुजरते दिन के साथ भारत में हाथ से निकलती जा रही है स्थिति, WHO प्रमुख ने कहा, वायरस कितना खतरनाक हो सकता है, इसे भारत को देखकर समझा जा सकता है

कुछ ऐसा ही दावा उन्होंने रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर भी किया है। गोपाल भार्गव ने कहा है कि आठ दिन के भीतर प्रदेश में इतने इंजेक्शन उपलब्ध हो जाएंगे कि लेने वाले कम पड़ जाएंगे लेकिन इंजेक्शन की कमी नहीं होगी। गोपाल भार्गव ने कहा है कि अब इंजेक्शन के वितरण के लिए राज्य सरकार ने निर्माता कंपनियों को फ्री हैंड दे दिया है। अब राज्य सरकार केवल इंजेक्शन वितरण की निगरानी करेगी। 

यह भी पढ़ें : रेमडेसिविर की किल्लत के सवाल पर प्रेस कॉन्फ्रेंस बीच में छोड़ कर भागे तुलसी सिलावट और गौरव रणदिवे

बहरहाल प्रदेश में इंजेक्शन की किल्लत और कालाबाजारी की ख़बरें अब भी आ रही हैं। वहीं ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। जबलपुर, खरगोन, शहडोल, भोपाल और ग्वालियर के बाद अब छतरपुर में भी ऑक्सीजन की कमी से चार मरीजों की मौत हो गई है।