हीरे की खोज में सैकड़ों लोग कर रहे हैं खुदाई, पन्ना में निर्माणाधीन डैम को ख़तरे की आशंका

रूंझ नदी में बन रहे बांध के पास हीरे तलाशने वालों की भीड लग रही है, स्थिति ये है कि दूसरे राज्यों के लोग भी यहां हीरा के लालच में पहुंच रहे हैं।

Updated: Nov 02, 2022, 12:09 PM IST

हीरे की खोज में सैकड़ों लोग कर रहे हैं खुदाई, पन्ना में निर्माणाधीन डैम को ख़तरे की आशंका

पन्ना। हीरों की नगरी पन्ना में इन दिनों सैंकड़ों लोग पहाड़, जंगल, नदी में अवैध रुप से हीरों की खुदाई में जुटे हैं। करीब दो माह से लोग यहां गैंती, फावड़ा, तसला, छलनी लेकर हीरों की तलाश कर रहे हैं। लोगों का दावा है कि एक ठेकेदार को वहां हीरे हाथ लगे हैं। अधिकारियों ने बताया कि जमीन जल संसाधन विभाग की है और कोई भी ढाई फीट तक का गड्ढा खोद सकता है। 

पन्ना की रुंझ नदी पर इन दिनों डैम बनने का काम लगा है। नाला (क्लोजर बांध) के लिए यहां मिट्टी की खुदाई हुई तो लोग उस मिट्टी में हीरों की उम्मीद या हीरों के लालच में मिट्टी साफ करने पहुंच गए। धीरे-धीरे हो हल्ला हुआ तो लोगा नदी के आसपास के इलाके में पहुंचकर नदी किनारे मिट्टी खोदकर उसमें हीरे तलाशने लगे। कुछ दिनों में यहां यूपी से भी लोग परिवार सहित आ गए और सुबह से शाम तक यहां मिट्टी को साफ कर उसमें हीरे तलाशे जाने लगे।

पहली नजर में समझना मुश्किल होता है यहां लोग क्या कर रहे हैं। कुछ लोग छोटी छोटी कुदालियां से मिट्टी खोदते हैं तो उससे ज्यादा लोग पानी में मिट्टी छान कर कंकड़ सहेजते हैं।कुछ लोगों का काम मिटटी घुल जाने के बाद बचे कंकड़ पत्थरों को कपडे पर बिखेर कर सुखाकर उनमें नजरें गड़ा कर हीरा की तलाश करने का है। हीरे के चक्कर में हर चमकीले पत्थर को सहेज कर सावधानी से उठाकर सहेज कर रखा जाता है।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा की व्यवस्था समझने एमपी कांग्रेस के नेता पहुंचे हैदराबाद, 20 नवंबर को एमपी में प्रवेश करेगी यात्रा

पन्ना पुलिस सूत्रों के अनुसार बीते रोज यहां पर पुलिसकर्मियों को भेजकर अवैध उत्खनन करने वालों को खदेड़ने के निर्देश दिए गए थे। रुंझ नदी के किनारे बाइक से पहुंचे पुलिसकर्मियों ने जब लोगों को यहां से जाने और मिट्टी का उत्खनन बंद करने को कहा तो वे पुलिस से बहसबाजी करने लगे। इतना ही नहीं लोगों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थर तक फेंके थे। जमीन खोदने वालों में केवल पन्ना ही नहीं आसपास के जिलों व उत्तरप्रदेश के सीमावर्ती इलाकों से भी सैंकड़ों की संख्या में लोग यहां पहुंच गए हैं। 

पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्र के नाम का आदेश को लेकर भी यहां अफवाह फैली हुई है कि डैम बनने के लिए मिट्टी की खुदाई हो रही है, लोग यहां मिट्टी की खुदाई कर सकते हैं। हालांकि कलेक्टर मिश्र ने खुद आगे आकर इस अफवाह का खंडन करते हुए मीडिया को बताया है कि ऐसा कोई आदेश जारी नहीं हुआ, न कोई लीज या पट्टा दिया गया है। जो भी अवैध उत्खनन करते पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस ने कहा कि हजारों लोग खुदाई के उपकरण लेकर आते हैं और कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा कर दी है। अनुमंडल पुलिस अधिकारी कल्याणी वेरकाडे ने कहा कि उन्होंने एक पखवाड़े में 100 से अधिक मोटरसाइकिल जब्त की हैं। बावजूद लोग आना नहीं छोड़ रहे। अब वे हीरे की लालच में पैदल आ रहे हैं। फिलहाल हीरे की इस लालच के कारण रूंझ नदी पर बन रहे डैम के लिए समस्या उत्पन्न होता दिख रहा है।