इंदौर में 100 फीसदी लोगों का हुआ वैक्सीनेशन, 28 लाख से ज्यादा लोगों ने ली वैक्सीन की पहली डोज

इंदौर में वैक्सीनेशन के लिए योग्य सौ फीसदी आबादी को कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है, इंदौर जिले द्वारा स्थापित किया गया यह कीर्तिमान न सिर्फ खुश करने वाला है बल्कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच इंदौर के रहने वालों के लिए यह राहत भरी खबर है

Publish: Sep 01, 2021, 10:36 AM IST

इंदौर में 100 फीसदी लोगों का हुआ वैक्सीनेशन, 28 लाख से ज्यादा लोगों ने ली वैक्सीन की पहली डोज

इंदौर। इंदौर ने एक बार फिर देश भर में कीर्तिमानों का अपना झंडा गाड़ दिया है। इंदौर जिले में वैक्सीनेशन के लिए योग्य सौ फ़ीसदी आबादी को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। सत प्रतिशत वैक्सीनेशन से इंदौर जिले के रहने वालों को बड़ी राहत पहुंची है। 

मंगलवार शाम को जैसे ही इंदौर ने शत प्रतिशत वैक्सीन का लक्ष्य हासिल किया, वैसे ही इंदौर का प्रशासनिक अमला खुशी से झूम उठा। कलेक्टर मनीष सिंह ने शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लक्ष्य को पूरा करने के लिए जुटे अधिकारियों का मुंह मीठा कराया। इंदौर में मंगलवार शाम तक 28 लाख 8 हजार 212 लोगों का वैक्सीनेशन कर दिया गया। जबकि मंगलवार तक इंदौर जिले में 28 लाख 7 हजार 559 लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य था।

शत प्रतिशत वैक्सीनेशन की उपलब्धि हासिल करने पर देश भर में एक बार फिर इंदौर प्रशंसा का केंद्र बन गया है। स्वच्छता को लेकर इंदौर की पूरे देश में पहचान है। अब टीकाकरण के इस कीर्तिमान की वजह से एक बार फिर देश भर में इंदौर की चर्चा होने लगी है। खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस उपलब्धि पर इंदौर वासियों को बधाई दी है। 

यह भी पढ़ें : इंदौर में महिलाओं के लिए अलग से लगाए गए टीकाकरण केंद्र, 6 अलग अलग केंद्रों पर महिलाएं लगवा रही हैं टीका

शत प्रतिशत वैक्सीन का लक्ष्य हासिल करने में इंदौर प्रशासन के टीम वर्क का बहुत बड़ा योगदान रहा। नगर निगम, रेवेन्यू विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों की तैनाती युद्ध स्तर पर की गई। इतना ही नहीं टीकाकरण के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के साथ साथ कई केंद्रों पर टीका लगवाने वालों को लकी ड्रॉ के जरिए उपहार भी दिए गए। 

इंदौर शहर में जून महीने के अंतिम में महिलाओं के लिए अलग से टीकाकरण केंद्र भी खोले गए। शत प्रतिशत वैक्सीनेशन की लक्ष्य प्राप्ति के लिए लोगों को घर जा कर भी टीके लगाए गए।