छतरपुर में पत्रकार पर हमला, पीएनसी कर्मचारियों पर मारपीट का आरोप

छतरपुर के बामीठा फोरलेन में अतिक्रम हटाए जाने के कवरेज के लिए पहुंचे पत्रकार देवेंद्र चतुर्वेदी पर हुआ हमला, मौके पर एसडीएम भी थे मौजूद

Updated: Mar 07, 2021, 11:56 AM IST

छतरपुर में पत्रकार पर हमला,  पीएनसी कर्मचारियों पर मारपीट का आरोप
Photo Courtesy: Khabar Uttarakhand

छतरपुर। छतरपुर के निर्माणधीन बमीठा फोरलेन पर पीएनसी के कर्मचारियों ने एक पत्रकार पर जानलेवा हमला कर दिया। यह हमला उस वक्त हुआ जब पत्रकार देवेंद्र चतुर्वेदी बमीठा फोरलेन पर जबरन हटाए जा रहे अतिक्रमण का कवरेज करने गए थे। हैरानी की बात यह है कि जिस समय पत्रकार पर हमला किया गया, राजनगर के एसडीएम भी मौके पर ही मौजूद थे। उनके सामने ही देवेंद्र चतुर्वेदी पर हमला किया गया। चतुर्वेदी ने इस मामले की शिकायत बमीठा पुलिस थाने में की है। पुलिस ने इस प्रकरण को संज्ञान में लेकर जांच शुरू कर दी है। 

यह घटना मध्यप्रदेश को लज्जित करती है: कांग्रेस 

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने पत्रकार पर किए गए हमले की निंदा की है। कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के क्षेत्र का यह मामला मध्यप्रदेश को लज्जित करता है। कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस घटना पर टिप्पणी करते हुए लिखा है, "छतरपुर में पत्रकार पर जानलेवा हमला, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के क्षेत्र का है मामला,बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा के क्षेत्र में सरकार की तानाशाही को कवर करने गये पत्रकार की पिटाई का मामला मध्यप्रदेश को लज्जित करता है।शिवराज जी,आपका अहंकार प्रदेश पर भारी है। जंगलराज"

दरअसल छतरपुर में इस समय बमीठा फोरलेन के निर्माण का कार्य चल रहा है। जिसके लिए अतिक्रमण को जबरन हटाया जा रहा है। फोरलेन का निर्माण अंतिम चरण में पहुंच गया है लेकिन स्थानीय लोगों को अभी तक मुआवजा नहीं मिला है। इससे नाराज़ स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं। इसी विरोध को कवर करने के इरादे से देवेंद्र चतुर्वेदी गए थे। लेकिन पीएनसी के कमर्चारियों ने उनके ऊपर जानलेवा हमला कर दिया। इस पूरे प्रकरण में ज़िला प्रशासन की कार्यशैली भी सवालों के घेरे में है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि अतिक्रमण को जबरन हटाने का काम प्रशासन की शह पर ही हो रहा है।