भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लॉकडाउन का एलान, 21 मार्च को पूरी तरह बंद रहेंगे तीनों शहर

मध्य प्रदेश के इन तीन शहरों में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन रहेगा, स्कूल-कॉलेज 31 मार्च तक नहीं खुलेंगे

Updated: Mar 19, 2021, 09:30 PM IST

भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लॉकडाउन का एलान,  21 मार्च को पूरी तरह बंद रहेंगे तीनों शहर
Photo Courtesy : Zee News

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने राजधानी भोपाल, इंदौर और जबलपुर में रविवार, 21 मार्च पूरी तरह लॉकडाउन करने का फैसला किया है। तीनों शहरों में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा। इन तीनों शहरों में 31 मार्च तक स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे। यह फैसला पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 1140 नए कोरोना केस सामने आने के बाद किया गया है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कोरोना की समीक्षा बैठक के बाद यह फैसला किया गया है। 

मध्यप्रदेश में बिगड़ते हालात के मद्देनजर मुख्यमंत्री बैठक के लिए पश्चिम बंगाल के चुनावी दौरे से लौटकर एयरपोर्ट से सीधे मंत्रालय पहुंचे थे। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस, डीजीपी विवेक जौहरी, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा को बुलाया गया था। 

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना ने बढ़ाई चिंता, महाराष्ट्र से आने वाली बसों के प्रवेश पर रोक

इससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री ने कोरोना की समीक्षा बैठक के दौरान सभी कलेक्टरों और सीएमएचओ के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मौजूदा हालात को लेकर चर्चा की थी। इस बैठक के बाद महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश में आने और जाने वाली यात्री बसों पर 20 मार्च से 31 मार्च तक के लिए रोक लगा दी थी। 

और पढ़ें : एमपी में कोरोना का कहर जारी, बिजावर विधायक राजेश शुक्ला कोविड की चपेट में

इंदौर और भोपाल में सबसे तेजी से संक्रमण फैल रहा है। इंदौर में मरीजों का आंकड़ा एक बार फिर 300 के पार पहुंच गया है। यहां 2 महीने 26 दिन बाद 302 केस मिले हैं। इसी तरह भोपाल में 3 महीने 7 दिन बाद एक दिन में 203 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़ने का एक आधार टेस्टिंग बढ़ना भी है। दो दिन पहले तक 18 हजार तक टेस्ट हो रहे थे, लेकिन 18 मार्च को संख्या बढ़ा कर 20,770 की गई। ऐसे में संक्रमितों की संख्या भी बढ़ गई।

यह भी पढ़ें: ग्वालियर: कोरोना ने छीनी व्यापार मेले की रौनक़, रात 10 बजे बंद करने के फ़ैसले के बाद उठने लगीं दुकानें

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मार्च में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है। यह लहर ज्यादा खतरनाक है। संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है, लेकिन अभी भी बाजारों में लोग कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। इससे संक्रमण के तेजी से फैलने का खतरा है। कोरोना के चलते पिछले साल 22 मार्च से लॉकडाउन शुरू हुआ था, उसके ठीक एक साल बाद 21 मार्च को MP में दोबारा लॉकडाउन लगेगा।