विधानसभा उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को न देने पर बोले कमलनाथ, संसदीय परंपराओं को नहीं मानती बीजेपी

बीजेपी के गिरीश गौतम ने विधानसभा के स्पीकर पद के लिए आज ही नामांकन किया है, कांग्रेस ने तय किया है कि वो गिरीश गौतम के खिलाफ कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगी

Updated: Feb 21, 2021, 03:23 PM IST

विधानसभा उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को न देने पर बोले कमलनाथ, संसदीय परंपराओं को नहीं मानती बीजेपी
Photo Courtesy : Outlook India

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा स्पीकर की तस्वीर अब साफ़ हो गई है। रीवा के बीजेपी विधायक गिरीश गौतम मध्यप्रदेश विधानसभा के स्पीकर होंगे, उन्होंने आज अध्यक्ष पद के लिए अपना नामंकन भी दाखिल कर दिया। लेकिन इन सबके बीच विधानसभा में उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को न दिए जाने को लेकर कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है। पीसीसी चीफ कमल नाथ ने कहा है कि बीजेपी का कभी भी संसदीय परंपराओं में विश्वास नहीं रहा है। 

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि भाजपा का शुरू से संसदीय परंपराओं में कभी विश्वास नहीं रहा है।वर्षों से विधानसभा अध्यक्ष का पद सत्ता पक्ष को व उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को देने की चली रही परंपराओं को भाजपा ने तोड़ा है लेकिन हमारा शुरू से ही संसदीय परंपराओं में विश्वास रहा है।  

बीजेपी के इस रूख के बावजूद कांग्रेस ने यह तय किया है कि वो विधानसभा स्पीकर के पद पर गौतम के खिलाफ अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगी। कमल नाथ ने कहा, 'हमने निर्णय लिया है कि हम विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण सहयोग करते हुए निर्विरोध ढंग से विधानसभा अध्यक्ष पद का निर्वाचन करवाने में अपनी ओर से पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।'

रीवा के देवतालाब से बीजेपी के विधायक गिरीश गौतम ने सुबह क़रीब 10 बजे विधानसभा पहुँचकर नामांकन भी कर दिया। इस मौक़े पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग भी उनके साथ मौजूद रहे। मार्च 2020 में एनपी प्रजापति के पद से हटने के बाद से ही राज्य विधानसभा में कोई स्पीकर नहीं है।

यह भी पढ़ें : गिरीश गौतम होंगे मध्य प्रदेश विधानसभा के नए अध्यक्ष, विधानसभा पहुँचकर किया नामांकन

गिरीश गौतम का नाम संगठन ने आगे बढ़ाया है। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने तीन दिन पहले गिरीश गौतम को भोपाल बुलाकर मुलाकात की थी। गौतम विधानसभा के 18वें अध्यक्षा होंगे। वह 4 बार के विधायक हैं। बीजेपी सूत्रों ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने शनिवार रात 8 बजे के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के संबंध में चर्चा की थी। विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव सोमवार 22 फरवरी को बजट सत्र के पहले दिन होना है। हालांकि विधानसभा में विधायकों की संख्या के हिसाब से दोनों पद बीजेपी के खाते में जाना लगभग तय ही है।

यह भी पढ़ें : विंध्य से हो सकते हैं मध्य प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष, गिरीश गौतम और राजेंद्र शुक्ला के बीच रेस

गिरीश गौतम के अध्यक्ष बनने के बाद 17 वर्षों बाद विंध्य क्षेत्र का कोई व्यक्ति विधानसभा का स्पीकर बनेगा। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में श्रीनिवास तिवारी मध्यप्रदेश विधानसभा के स्पीकर रहे थे।