ग्वालियर: पंचायत के सामने हुई दो लोगों की मॉब लिंचिंग, भीड़ ने की निर्दयता की सारी हदें पार

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पंचायत के दौरान हथियार लहराते पहुंचे बदमाश, गांव वालों ने किया हमला, दो बदमाशों को बेरहमी से मार डाला, तीसरा किसी तरह जान बचाकर भागने में हुआ कामयाब

Updated: Nov 08, 2021, 06:37 PM IST

ग्वालियर: पंचायत के सामने हुई दो लोगों की मॉब लिंचिंग, भीड़ ने की निर्दयता की सारी हदें पार
Photo Courtesy: Timesnow

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में मॉब लिंचिंग की एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। यहां एक गांव में पंचायत के सामने दो लोगों को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। ग्रामीणों ने पीड़ितों के सिर पर धारदार कुल्हाड़ी से कई बार वार किया और अंत में ईंट-पत्थर से उनका चेहरा कुचल दिया। पुलिस ने घटनास्थल से क्षत-विक्षत हालत में मृतकों का शव बरामद किया है। 

मामला ग्वालियर जिले के गिजोर्रा थाना इलाके के धरमपुरा गांव की है। जानकारी के मुताबिक गांव के ही राजेन्द्र बघेल और गजेन्द्र कुशवाह के परिवार में विवाद चल रहा है। राजेंद्र के घर की एक लड़की से गजेंद्र कुशवाह का प्रेम प्रसंग इस विवाद की वजह है। धनतेरस के दिन राजेन्द्र बघेल ने 10 हजार का इनामी बदमाश लाखन गड़रिया व राजपाल बघेल को बुलाकर गजेन्द्र की पिटाई कराई थी। मामले में गजेंद्र ने गिजोर्रा थाना में शिकायत के बजाए पंचायत बुलाई। 

यह भी पढ़ें: मुरलीधर राव की जेब में हैं ब्राह्मण और बनिया, कमल नाथ बोले, अहंकार के नशे में चूर हो गई है भाजपा

ग्रामीणों के मुताबिक सोमवार को पंचायत शुरू होते ही लाखन गड़रिया दो अन्य को लेकर वहां पहुंचा और डराने के लिए हवाई फायरिंग कर दी। इस दौरान वहां मौजूद सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया और धारदार कुल्हाड़ी, डंडे और पत्थर से हमला करने लगे। ग्रामीणों की मंशा को भांपते हुए एक युवक वहां से जान बचाकर भाग निकला, लेकिन दो अन्य वहीं भीड़ में फंस गए। ग्रामीणों ने लाखन के सिर पर लगातार कुल्हाड़ी से हमला किया। इसके बाद जब लाखन जमीन पर गिरकर तड़पने लगा तो भीड़ ने निर्दयता की सारी हदों को पार करते हुए उसका मुंह पत्थरों से कुचल दिया और उसकी जान ले ली। इधर उसके साथी राजपाल को ग्रामीणों ने चौपाल पर ही अधमरा कर दिया था।

राजपाल बचने के प्रयास में पास के नाले में गिर गया। लेकिन गांव वालों ने उपर से पीट-पीटकर उसकी भी जान ले ली। बताया जा रहा है लाखन गड़रिया पर लूट, हत्या के प्रयास, अवैध वसूली के दर्जनों मामले दर्ज थे। उस पर पुलिस द्वारा 10 हजार रुपए का इनाम घोषित था। वह डबरा के किटोरा गांव का रहने वाला था, वहीं राजपाल दिनारा गांव का रहने वाला है।  पुलिस दोनों मृतकों का रिकॉर्ड खंगाल रही है। पुलिस ये पता करने में भी जुटी हुई है कि इस हत्याकांड में गांव के कौन कौन लोग शामिल थे।