बच्चा कहीं और पैदा हुआ है, मिठाई भाजपा वाले बांटने लगे: चुनाव नतीजों पर बोले कमलनाथ

निकाय चुनाव नतीजों के बाद कमलनाथ का प्रेस वार्ता, बोले- मध्य प्रदेश की जनता ने भाजपा को नकार दिया है, 14 महीने बाद 2023 में मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी

Updated: Jul 20, 2022, 08:02 PM IST

बच्चा कहीं और पैदा हुआ है, मिठाई भाजपा वाले  बांटने लगे: चुनाव नतीजों पर बोले कमलनाथ

भोपाल। प्रदेश में संपन्न हुए नगरीय निकाय चुनाव के दूसरे चरण के परिणाम आज घोषित हुए। चुनाव परिणाम को लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों में जश्न का माहौल है। बीजेपी में जश्न को लेकर पीसीसी चीफ कमलनाथ ने तंज कसते हुए कहा कि बच्चा किसी और के घर में पैदा होता है और मिठाई भाजपा वाले बांटने लागते हैं।

दरअसल, पिछले चुनाव में सभी नगर निगम में खाली हाथ रही कांग्रेस पार्टी ने इस बार पांच नगर निगमों में जीत दर्ज की और दो जगह पार्टी बेहद कम अंतर से हारी। पार्टी के इस प्रदर्शन के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जबलपुर, ग्वालियर, मुरैना, रीवा और छिंदवाड़ा में जीत हासिल कर चुकी है। बुरहानपुर और उज्जैन में जनता ने कांग्रेस को जिता दिया था, लेकिन षड्यंत्र की राजनीति और प्रशासन के दुरुपयोग से यह सीटें कांग्रेस के खाते में नहीं आ सकीं।'

यह भी पढ़ें: निकाय चुनाव रिजल्ट: रीवा में 24 साल बाद कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत, मंत्री तोमर का गढ़ मुरैना भी ढहा, कटनी में निर्दलीय महापौर

कमलनाथ ने आगे कहा कि अगर पिछले 23 साल के नगर निगम चुनावों के परिणाम पर नजर डालें तो कांग्रेस पार्टी को 1999 में 2 सीट भोपाल और जबलपुर, 2004 में भोपाल और देवास, 2009 में तीन सीट देवास, उज्जैन और कटनी और 2014 में कोई सीट नहीं मिली जबकि इस बार 2022 में हमने 5 नगर निगम जीते हैं। कमलनाथ ने कहा कि पिछले नगरीय निकाय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 16 नगर निगम जीते थे। इस बार बीजेपी के हाथ से 7 नगर निगम निकल गए हैं। भाजपा यह चुनाव पूरी तरह से हारी है। लेकिन हार के बावजूद भाजपा वाले ढोल बजा रहे हैं। भाजपा की हालत यह है कि बच्चा किसी और के घर होता है और मिठाई भाजपा के लोग बांटने लगते हैं।'

कमलनाथ ने कहा कि, 'महाकौशल में कांग्रेस की जीत हुई है। रीवा नगर निगम को जीतकर विंध्य क्षेत्र में भी कांग्रेस का परचम फहरा दिया है। ग्वालियर और चंबल में कांग्रेस पार्टी ने 57 साल का सबसे जबरदस्त प्रदर्शन किया है। ग्वालियर और चंबल में भाजपा के बड़े-बड़े नेता हैं, लेकिन उसी क्षेत्र में भाजपा की सबसे बुरी हार हुई है।' इस सवाल पर कि क्या उन्होंने सिंधिया को सड़क पर ला दिया कमलनाथ ने कहा कि वह किसी को सड़क पर लाने का काम नहीं करते। यह तो जनता ने सबक सिखाया है।

कमलनाथ ने दोहराया कि कांग्रेस पार्टी जीरो से 5 नगर निगम तक तक पहुंची है जब सत्ताधारी दल ने पुलिस पैसा और प्रशासन का जमकर दुरुपयोग किया। उसके बावजूद प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को जो समर्थन दिया है, उसके लिए हम प्रदेश की जनता के आभारी हैं। पहले गांव की जनता ने और अब शहर की जनता ने स्पष्ट कर दिया है कि अब प्रदेश की जनता बदलाव के मूड में है। 14 महीने बाद प्रदेश की जनता प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनाएगी।