जान जोखिम में डाल नदी पार करने को मजबूर 200 से अधिक स्कूली बच्चे, हरदा का दिल दहलाने वाला मंजर

भारी बारिश के कारण मध्य प्रदेश में नदी-नाले उफान पर हैं, इस बीच हरदा से एक वीडियो सामने आया है जिसमें स्कूली बच्चे जान जोखिम में डालकर उफनती नदी को पार कर रहे हैं

Updated: Jul 28, 2022, 02:22 PM IST

जान जोखिम में डाल नदी पार करने को मजबूर 200 से अधिक स्कूली बच्चे, हरदा का दिल दहलाने वाला मंजर

हरदा। मध्य प्रदेश में बारिश ने तबाही मचा रखी है। भारी बारिश के चलते नदियां-नाले उफान पर हैं।बीते कुछ दिनों में कई लोगों ने अपनी जिंदगियां नदी नाले को पार करते वक्त गवां दी है। बावजूद सैंकड़ों लोग अब भी जान दांव पर लगाने के लिए मजबूर हैं। हरदा से ऐसा ही एक दिल दहलाने वाला वीडियो सामने आया है जिसमें स्कूली बच्चे जान जोखिम में डालकर नदी पार कर रहे हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक हरदा जिले के रहटगांव तहसील के टेमरुबाहर, राजाबरारी, बोरी, चंदियापुरा गांव के स्कूली बच्चे मजबूरी में गंजाल नदी पार करके स्कूल आते जाते हैं। स्कूली बच्चे व ग्रमीण पानी से भरा रपटा पार करते हैं। जंगल क्षेत्र होने से पहाड़ से पानी गंजाल नदी में आता है जिससे नदी और नाले उफान पर रहते हैं। स्कूली बच्चे बोरी गांव के सरकारी हायर सेकंड्री स्कूल में पढ़ने जाते हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि, 'गांव से बाहर जाने के लिए ये एकमात्र रास्ता है। यहां बने रपटे पर ना तो रेलिंग है और ना ही किसी तरह की सुरक्षा व्यवस्था। क्षेत्र के ग्रामीण और बच्चे रोज इसी तरह नदी पार करते हैं। पुल बनाने को लेकर ग्रामीण कई बार मांग कर चुकें हैं, लेकिन अभी तक इस मामले पर किसी ने सुध नहीं ली है। एक तरफ जहां लोगों के लिए अपनी जान को जोखिम में डालना उनकी मजबूरी हो गई है, तो वहीं स्कूली बच्चों का जज्बा हर रोज उन्हें प्रेरित करता है।'

गांव के सरपंच मनोज धुर्वे ने बताया कि मैंने जनप्रतिनिधि विधायक मंत्री शासन को कई बार लिखित में शिकायत की लेकिन अभी तक किसी ने सुना नहीं। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि रपटा ऊंचाई से बनाना चाहिए और रेलिंग होनी चाहिए, नहीं तो किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है।