कांग्रेस कैंडिडेट विवेक तन्खा ने राज्यसभा चुनाव के लिए भरा नामांकन, बोले- उपयोगिता के आधार पर चयन हुआ

29 जून को समाप्त हो रहा है विवेक तन्खा का मौजूदा कार्यकाल, कांग्रेस दोबारा भेज रही है राज्यसभा, पीसीसी चीफ कमलनाथ की मौजूदगी में दाखिल किया नामांकन, शीर्ष नेतृत्व का जताया आभार

Updated: May 30, 2022, 01:27 PM IST

कांग्रेस कैंडिडेट विवेक तन्खा ने राज्यसभा चुनाव के लिए भरा नामांकन, बोले- उपयोगिता के आधार पर चयन हुआ

भोपाल। मध्य प्रदेश में खाली हो रही तीन राज्यसभा सीटों में से एक के लिए कांग्रेस उम्मीदवार विवेक तन्खा ने सोमवान को अपना नामांकन दाखिल किया। राज्यसभा के लिए दोबारा चुने जाने को लेकर उन्होंने शीर्ष नेतृत्व का आभार जताया। साथ ही यह भी कहा कि उनका चयन उपयोगिता के आधार पर हुआ है। नामांकन दाखिल करते वक्त पीसीसी चीफ कमलनाथ और नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह भी मौजूद रहें।

विधानसभा में नामांकन दाखिल करने के पहले विवेक तन्खा शिवाजी नगर स्थित कांग्रेस दफ्तर पहुंचे। यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि, 'उपयोगिता के आधार पर मेरा नाम आगे किया गया है। अभी कांग्रेस पार्टी को मेरी उपयोगिता अधिक लगी।यदि मुझे लगा कि मेरे से अधिक और कोई उपयोगी है, तो मैं उसका नाम आगे कर दूंगा। जो बीजेपी में चले गए मैं उनके भी काम का हूं।'

पीसीसी दफ्तर में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और कांतिलाल भूरिया भी मौजूद थे। यादव ने उन्हें बधाई दी और कहा कि वे हर वक्त पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ खड़े रहते हैं इसलिए मुझे लगता है कि हाईकमान ने राज्यसभा के लिए बिलकुल उपयुक्त व्यक्ति का चयन किया है। विवेक तन्खा यहां से विधानसभा के रिटर्निंग ऑफिसर के कक्ष में पहुंचे, जहां दर्जनों नेताओं की मौजूदगी में उन्होंने नामांकन दाखिल किया। इस दौरान जीतू पटवारी, तरुण भनोट और कमलेश्वर पटेल भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: BJP के 16 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी, MP से कविता पाटीदार, राजस्थान से घनश्याम तिवाड़ी जाएंगे राज्यसभा

बीजेपी ने मध्य प्रदेश से पूर्व मंत्री स्वर्गीय भेरुलाल पाटीदार की बेटी कविता पाटीदार को राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया है। कविता इंदौर जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है और वर्तमान में वह भाजपा प्रदेश महामंत्री है। संख्या बल के हिसाब से प्रदेश की तीन सीटों में से दो बीजेपी जबकि एक कांग्रेस के खाते में जाती दिख रही है। मध्य प्रदेश में बीजेपी के एक और उम्मीदवार तय नहीं हुआ है।