MP: खंडवा जेल में सेंधमारी का सनसनीखेज मामला, चप्पल के भीतर छुपाकर मोबाइल भेजने का षड्यंत्र नाकाम

ये मोबाइल फोन चप्पल के सोल में छिपाकर जेल में बंद कैदी दुष्कर्म के आरोप में बंद बुरहानपुर निवासी चेतन पिता सीताराम तक भेजा जाना था, जेल पुलिस ने मोबाइल को जब्त कर लिया है, इसके साथ ही जेल के भीतर मोबाइल भेजने की साजिश रचने वाले व्यक्ति की पहचान की जा रही है। 

Updated: Jun 14, 2022, 03:20 PM IST

MP: खंडवा जेल में सेंधमारी का सनसनीखेज मामला, चप्पल के भीतर छुपाकर मोबाइल भेजने का षड्यंत्र नाकाम
Photo Courtesy: lalluram

खंडवा। मध्य प्रदेश के खंडवा जेल में सेंधमारी और बंद कैदी तक मोबाइल भेजने की साजिश नाकाम हो गई है। महिला प्रहरी की सजगता से चप्पल के भीतर छुपाकर मोबाइल को जेल में बंद कैदी तक पहुंचाने का प्रयास असफल हो गया। दरअसल ये मोबाइल फोन चप्पल के सोल में छिपाकर जेल में बंद कैदी दुष्कर्म के आरोप में बंद बुरहानपुर निवासी चेतन पिता सीताराम तक भेजा जाना था। जेल पुलिस ने मोबाइल को जब्त कर लिया है। इसके साथ ही जेल के भीतर मोबाइल भेजने की साजिश रचने वाले व्यक्ति की पहचान की जा रही है। 

सोमवार सुबह खंडवा जिला जेल में बंद कैदियों से मुलाकात करने वाले उनके रिश्तेदार, दोस्त और स्वजनों की भीड़ ज्यादा थी। इसके साथ ही परिजन कैदियों के लिए खाना, कपड़े, चप्पल, जूते जैसे सामान लेकर पहुंचे थे। इनमें दुष्कर्म की सजा काट रहे बुरहानपुर निवासी चेतन से मिलने उसका कोई साथी आया था। कैदियों से मुलाकात खत्म होने के बाद जेल प्रशासन द्वारा परिजनों द्वारा लाए गए सामान की जांच होती है। 

महिला प्रहरी शिवांगी चौरे जब इन सामानों की जांच कर रही थी। तब उन्होंने कैदी चेतन पुत्र सीताराम के नाम की पर्ची वाली थैली की जांच की। थैली में कपड़ों के अलावा एक जोड़ी चप्पल थी। शिवांगी ने चप्पल उठाकर देखी तो एक चप्पल भारी और एक चप्पल हल्की लगी। शिवांगी को चप्पल के बजन में अंतर होने के कारण शक हुआ। उन्होंने चप्पल को ध्यान से देखा तो उसका पिछला हिस्सा कटा हुआ था। जिसे वापस चिपकाया गया था। कटे हिस्से को खोलने पर चप्पल के भीतर मोबाइल फोन रखा दिखा। शिवांगी ने मोबाइल फोन मिलने की सूचना जेल अधीक्षक अदिति चतुर्वेदी और जेलर ललित दीक्षित को दी।

यह भी पढ़ें: इंदौर-खंडवा रोड़ पर तेज रफ्तार ट्रक और कार की भिड़ंत, दो पुलिसकर्मियों सहित तीन लोगों की मौत

जेल अधीक्षक अदिति चतुर्वेदी ने मीडिया को बताया कि चप्पल में मोबाइल फोन अंदर पहुंचाने की कोशिश की गई है। इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। मोबाइल कैदी चेतन के लिए भेजा गया था। चेतन एक साल से कैद है। दुष्कर्म के मामले में सजा हुई है। उस तक मोबाइल फोन पहुंचाने की कोशिश करने वाले की तलाश की जा रही है। जेल के बाहर लगे कैमरों के फुटेज देख रहे है। आरोपित की पहचान कर उसके खिलाफ कोतवाली थाने में प्रकरण पंजीबद्ध करवाया जाएगा। इससे पहले खंडवा जेल में सुरक्षा प्रहरी द्वारा जेल में गांजा सप्लाई मामला सामने आया था।