MP: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले, मैं कभी नहीं पहनता मास्क, कोरोना से बचाव के अपने ही आदेश का उड़ाया मज़ाक

Corona in MP: कोरोना के सबसे बड़े हॉट स्पॉट इंदौर में बिना मास्क लगाए घूमे गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, कांग्रेस ने पूछा है कोई माई का लाल जो इनपर करवाई का साहस दिखाए

Updated: Oct-20, 2020, 02:11 PM IST

MP: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले, मैं कभी नहीं पहनता मास्क, कोरोना से बचाव के अपने ही आदेश का उड़ाया मज़ाक

इंदौर। देश के सबसे बड़े कोरोना हॉट स्पॉट में शामिल इंदौर में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा बुधवार को करीब 4 घंटे तक कई कार्यक्रमों में बिना मास्क पहने शामिल हुए। अनुग्रह सहायता राशि वितरण कार्यक्रम, नए कंट्रोल रूम का उद्घाटन और मीडिया से बात करते हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बिना मास्क के नजर आए। इंदौर में मास्क नहीं पहनने वालों पर नगर निगम की टीम ऑन स्पॉट 100 रुपए जुर्माना वसूलती है। उस शहर में मास्क न पहनने को लेकर सवाल हुआ तो नरोत्तम मिश्रा ने पत्रकारों से कहा कि मैं कभी भी किसी कार्यक्रम में मास्क नहीं पहनता हूं। नरोत्तम ने इस बयान से अपने ही आदेशों की खुली अवहेलना कर दी है जिसमें उन्होंने बीते दिनों मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों व आमजनों को मास्क न पहनने पर सख्त करवाई की बात कही थी।

दरअसल, गृहमंत्री मिश्रा बुधवार को इंदौर में रविंद्र नाट्यगृह में संबल योजना के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान उन्हें बिना मास्क पहने देख मीडियाकर्मियों ने सवाल पूछा कि आपने मास्क क्यों नहीं पहन रखा है। इसके जवाब में गृहमंत्री ने अजीबोगरीब बयान दिए। नरोत्तम मिश्रा ने साफ कहा कि मैं मास्क पहनता ही नहीं हूं। मैं हर जगह ऐसे ही बिना मास्क पहने जाता हूं। मैं किसी कार्यक्रम में मास्क नहीं पहनता।'

 

 

खुद नरोत्तम मिश्रा ने कहा था, मंत्री हो या अफ़सर मास्क पहनना अनिवार्य 

गौरतलब है कि बीती 30 जुलाई को ही कोरोना के दिशानिर्देशों की जानकारी देते हुए नरोत्तम में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि सभी विधायकों, मंत्रियों, अधिकारियों और आम लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा और जो मास्क नहीं पहनेगा उसके खिलाफ उचित दंडात्मक करवाई की जाएगी। वहीं अब वह खुद अपने आदेशों का सार्वजनिक रूप से अवहेलना कर रहे हैं। ऐसे में उनकी कथनी और करनी पर गंभीर सवालिया निशान खड़े होते हैं।

 

प्रदेश के गृहमंत्री का यह विवादास्पद बयान ऐसे समय में आया है जब मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण पर काबू पाना मुश्किल हो गया है। सीएम समेत पक्ष और विपक्ष के 4 दर्जन से अधिक मंत्री और विधायक अबतक कोरोना के चपेट में आ चुके हैं। इसके पहले बीजेपी नेता व शिवराज कैबिनेट में मंत्री इमरती देवी ने भी कोरोना को लेकर विवादित बयान दिया था। इमरती ने कहा था कि मैं गोबर में पैदा हुई हूं, मुझे कोरोना छू भी नहीं सकता है।

 

मंत्री नियम तोड़े, जनता से जुर्माना वसूलें, ये कैसा न्याय: नरेंद्र सलूजा 

मास्क नहीं पहनने के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के बयान के बाद कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने कहा है कि जिस प्रदेश में 1 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो, 2000 से अधिक मौतें अब तक हो चुकी हो, प्रदेश के उस इंदौर में, जहाँ ख़ुद 20 हज़ार से अधिक लोग संक्रमित है, 500 से अधिक लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी हो, जो देश का हॉट - स्पॉट बना हुआ है, उस इंदौर में आगमन पर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का यह कहना कि मै मास्क नहीं पहनता, पूरी तरह से ग़ैर ज़िम्मेदाराना बयान है।

और पढ़ें: Corona: मंत्री नरोत्तम मिश्रा कब कोरोना नियमों का पालन करेंगे

सलूजा ने कहा है कि मंत्री मिश्रा का यह बयान देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को खुली चुनौती है, जो जनता से मास्क पहनने की अपील करते है और कहते है कि चाहे सांसद हो या मंत्री, सभी को मास्क पहनना अनिवार्य है। जिस मंत्री के ज़िम्मे गृह मंत्री होने के नाते प्रदेश की क़ानून व्यवस्था के पालन की ज़िम्मेदारी है, वो ख़ुद कहे कि मै मास्क नहीं पहनता और दूसरी तरफ़ प्रदेश की जनता पर मास्क नहीं पहनने पर चौराहे-चौराहे जुर्माना वसूला जा रहा है, ये कैसा दोहरा क़ानून और मंत्री क्या संदेश देना चाहते है? है कोई माई का लाल जो नियमो के उल्लंघन पर इन पर कार्रवाई का साहस दिखा सके? क्या नियम सिर्फ़ जनता के लिए हैं?