एक और भांजी ने लगाई मामा शिवराज से गुहार, प्लीज! इलाज के लिए एंटी फंगल इंजेक्शन दिला दो

इंदौर में इलाज करवा रही ब्लैक फंगस पीड़िता स्नेहा गुप्ता की पीएम मोदी और सीएम शिवराज से मार्मिक अपील, इलाज के किए एंटी फंगल इंजेक्शन दिलाने की गुहार

Updated: May 27, 2021, 01:49 AM IST

एक और भांजी ने लगाई मामा शिवराज से गुहार, प्लीज! इलाज के लिए एंटी फंगल इंजेक्शन दिला दो

इंदौर। मध्यप्रदेश में जानलेवा ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों के बीच आवश्यक एंटी फंगल इंजेक्शन को लेकर अफरातफरी का माहौल है। फंगल इंफेक्शन से संक्रमित मरीज और उनके परिजन इंजेक्शन को लेकर परेशान हैं। इंजेक्शन न मिलने की वजह से किसी की आंख खराब हो रही है तो किसी की मौत हो जा रही है। ऐसे में अब मरीज और उनके परिजन सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार से अपनी जान की भीख मांगने पर मजबूर हो गए हैं। हालिया मामला इंदौर का है जहां एक बेटी ने अपनी जान बचाने के लिए पीएम मोदी और सीएम शिवराज से मार्मिक अपील की है।

मध्यप्रदेश के देवास के तिलक नगर की रहने वाली 22 वर्षीय स्नेहा गुप्ता कोरोना से ठीक होने के बाद ब्लैक फंगस की चपेट में आ गईं हैं। स्नेहा अपनी एक आंख की रोशनी खो चुकीं हैं और उन्हें इंदौर स्थित बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, 'इंजेक्शन के बगैर मेरी तबियत लगातार बिगड़ती जा रही है और सही से इलाज नहीं मिल पा रहा है।' 

यह भी पढ़ें: UP में कोरोना वैक्सीन का कॉकटेल, पहली डोज़ कोविशील्ड और दूसरी डोज कोवैक्सिन

स्नेहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अपील की है कि किसी तरह उन्हें इंजेक्शन दिलाया जाए। स्नेहा के पिता अजय गुप्ता ने इस वीडियो में कहा, 'मेरी बेटी की सर्जरी तो हो चुकी है, लेकिन इंजेक्शन के बिना उसकी हालत खराब होती जा रही है। डॉक्टरों का कहना है कि इंजेक्शन के बिना इलाज संभव नहीं है, यदि समय रहते इंजेक्शन नहीं मिला तो कोई भी दुष्परिणाम हो सकता है।' 

जानकारी के मुताबिक स्नेहा बी फार्मा के अंतिम वर्ष की छात्रा है। उसके पिता अजय गुप्ता के मुताबिक यदि समय रहते स्नेहा को 40 इंजेक्शन नहीं मिले तो वह हमेशा के लिए अंधी हो जाएगी। उन्होंने कहा, 'डॉक्टरों ने बताया कि स्नेहा को 6 इंजेक्शन प्रतिदिन देने होंगे। लेकिन सरकार की ओर से 2 दिन पहले एक इंजेक्शन दिया गया थे। ऐसे में बेटी की जिंदगी कैसे बचेगी।' 

स्नेहा की तबियत बिगड़ने के बाद अजय गुप्ता पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। उनकी पत्नी कैंसर से पीड़ित हैं और उन्हें भी कोविड-19 हो गया था। उनकी एक और बेटी मानसिक तौर पर विकलांग है। ऐसे में पूरे परिवार की आस इस बेटी पर टिकी हुई है। लेकिन दुर्लभ हो चुके इंजेक्शन न मिलने की वजह से गुप्ता की हिम्मत टूटती जा रही है। उन्हें डर है कि कहीं इंजेक्शन की कमी के चलते वे अपनी बेटी को न खो दें।

यह भी पढ़ें: भांजी का मामा शिवराज से भावुक अपील, पापा की जान बचा लो, मदद को आगे आए सोनू सूद

इससे पहले ब्लैक फंगस के चपेट में आकर जीवन और मौत से जूझ रहे ग्वालियर के एक व्यवसायी की असहाय बेटी रेणु शर्मा की भावुक अपील भी सामने आई थी। पिता की जान बचाने के लिए सभी रास्ते बंद होने पर इस मासूम ने भी सोशल मीडिया का सहारा लिया था। उसने सीएम शिवराज सिंह चौहान से कहा है कि आप तो मामा हो मेरी मदद करो। साथ ही राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी मदद की गुहार लगाई है। जिनसे अपील की वहां से तो नहीं, लेकिन कोरोनाकाल में जनता के मसीहा बन कर उभरे फ़िल्म अभिनेता सोनू सूद इस बच्ची की मदद के लिए आगे आए हैं।

पिछले एक हफ्ते में रेणु के पिता की 3 सर्जरी हो चुकी है। उनकी एक आंख निकाली जा चुकी है साथ ही ऊपर का जबड़ा भी हटाना पड़ा है। डॉक्टरों के मुताबिक तत्काल इंजेक्शन न मिलने पर इंफेक्शन बढ़ने का खतरा है और उनकी जान भी जा सकती है। डॉक्टरों ने उन्हें एमफोटेरेसिन बी 50 MG के 100 इंजेक्शन डोज का व्यवस्था करने के लिए कहा है।