Mp Weather : शीतलहर से मध्यप्रदेश में बढ़ी ठिठुरन, दतिया, भिंड, मुरैना में पाला पढ़ने की संभावना

भोपाल समेत कई जिलों में शीतलहर का दौर जारी, राज्य के 11 शहरों में सात डिग्री से नीचे दर्ज किया तापमान, नए साल के शुरुआती दिनों में बारिश की चेतावनी, पाला पड़ने के आसार

Updated: Dec 30, 2020, 11:50 PM IST

Mp  Weather : शीतलहर से मध्यप्रदेश में बढ़ी ठिठुरन, दतिया, भिंड, मुरैना में पाला पढ़ने की संभावना
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। मध्यप्रदेश के ज्यादातर जिलों में बुधवार को शीतलहर ने लोगों से ठिठुरने पर मजबूर किया। उत्तर भारत में बर्फबारी की वजह से देश के कई हिस्से शीतलहर की चपेट में हैं। इसी बर्फवारी का नतीजा है कि राज्य का ज्यादातर हिस्सा भीषण ठंड की मार झेल रहा है। उत्तर भारत से आ रही सर्द हवाओं से ठिठुरन बढ़ती जा रही है। कम धूप निकलने और तेज हवा चलने की वजह से दिन में भी सिहरन महसूस की जा रही है।

बुधवार को भोपाल में धूप नहीं निकली, जिसकी वजह से दिन में भी लोगों को सर्दी की वजह से परेशान होना पड़ा। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को प्रदेश के ज्यादातर संभागों में शीतलहर चली। भोपाल, ग्वालियर-चंबल संभागों के साथ-साथ नीमच, मंदसौर, राजगढ़, सीहोर, उज्जैन, टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, शाजापुर, रतलाम, रायसेन, इंदौर और धार जिलों में दिन के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई। कई जिलों में तापमान 6 डिग्री के आसपास तक लुढ़का।

और पढ़ें: भारत में भयावह है एनीमिया की स्थिति, महिलाओं और बच्चों की स्थिति ख़ासतौर पर चिंताजनक

वहीं मंगलवार को भोपाल, इंदौर, धार, उज्जैन, ग्वालियर, चंबल समेत 5 अन्य जिलों में कोर्ड कोल्ड डे रहा। वहीं दतिया, धार, गुना, ग्वालियर, खरगोन, पचमढ़ी, रायसेन, रतलाम, खजुराहो, नौगांव, शाजापुर में सात डिग्री से कम तापमान दर्ज किया गया। प्रदेश में भीषण ठंड और धूप नहीं निकलने की वजह से फसलों पर पाला पड़ने की आशंका बढ़ती नजर आ रही है।

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि नए साल की तीन चार दिन बाद ही मौसम फिर से बदलेगा। भोपाल समेत प्रदेश के कई इलाकों में बारिश होने की आशंका जताई जा रही है। कुछ स्थानों पर ओले गिरने की भी चेतावनी दी जा रही है। प्रदेश में बारिश औऱ ओले पड़ने की आंशका ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है।