निकाय चुनाव: बाहरी उम्मीदवारों को टिकट नहीं देगी कांग्रेस, वार्ड के मतदाता ही लड़ सकेंगे पार्षद चुनाव

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने जारी की नयी गाइडलाइंस, वार्ड का रहवासी और मतदाता ही उम्मीदवार बनाया जाएगा

Updated: Jun 12, 2022, 09:27 PM IST

निकाय चुनाव: बाहरी उम्मीदवारों को टिकट नहीं देगी कांग्रेस, वार्ड के मतदाता ही लड़ सकेंगे पार्षद चुनाव

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने निकाय चुनावों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा शुरू कर दी है। इसी बीच पीसीसी चीफ कमलनाथ ने टिकट वितरण को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी है। नए निर्देशों के मुताबिक अब कांग्रेस सिर्फ स्थानीय उम्मीदवारों को ही टिकट देगी।

प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी चंद्रभाष शेखर ने इस संबंध में आधिकारिक आदेश जारी किया है। इसमें लिखा गया है कि, 'प्रदेश में होने जा रहे नगर पालिक निगम, नगर पालिका परिषद एवं नगर परिषद चुनाव के संदर्भ में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने यह निर्देश दिए है कि कांग्रेस प्रत्याशी उन्हें ही बनाया जाए जो व्यक्ति जिस वार्ड में रहता हो एवं उसी वार्ड का मतदाता हो। किसी भी उम्मीदवार का वार्ड परिवर्तन नहीं किया जाएगा।' उन्होंने समस्त जिलाध्यक्षों को कहा है कि इसका पालन किया जाना अनिवार्य है। 

इस फैसले को लेकर प्रदेश कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता ये चुनाव लड़ने के लिए पार्टी के टिकट के लिए होड़ में हैं। पार्षद की एक सीट पर तीन से पांच संभावित उम्मीदवार हैं। कई लोग ऐसे हैं जो दूसरे वार्ड के निवासी हैं, लेकिन चुनाव कहीं और से लड़ना चाहते हैं। इसीलिए पार्टी नेतृत्व ने यह फैसला लिया है कि अब बाहरी कैंडिडेट को कांग्रेस टिकट नहीं देगी। स्थानीय उम्मीदवार होने से फायदा होता है कि वे जन समस्याओं को नजदीक से जानते-समझते हैं, साथ ही वार्ड के लोगों का भी स्थानीय उम्मीदवारों पर भरोसा होता है। इस फैसले से कांग्रेस के ज्यादा से ज्यादा उम्मीदवार चुनाव जीतने में कामयाब होंगे।