मुसलमान होकर हमारे भगवान के नाम से ठेला मत लगा, पानी पुरी बेचने वाले युवक को सरेआम धमकी

इंदौर के देपालपुर में सांवरिया नाम के ठेले पर पानी पुरी बेच रहे मुस्लिम युवक को एक व्यक्ति ने धमकाया, ठेले से बैनर हटाने का बनाया दबाव

Updated: Aug 30, 2021, 10:02 AM IST

मुसलमान होकर हमारे भगवान के नाम से ठेला मत लगा, पानी पुरी बेचने वाले युवक को सरेआम धमकी

इंदौर। मध्य प्रदेश में एक समुदाय विशेष के खिलाफ अत्याचार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला इंदौर संभाग का है। देपालपुर के पास आज एक मुस्लिम युवक को ठेले पर हिंदू भगवान का बैनर लगे होने के कारण धमकाया गया। मुस्लिम युवक ठेले पर सांवरिया नाम से बैनर लगाकर पानी पुरी बेच रहा था।

अज्ञात व्यक्ति ने पानी पुरी बेचने का धंधा करने वाले इलियास को सरेआम डराने धमकाने का प्रयास किया, जिसके बाद से युवक का पूरा परिवार दहशत में है। मुस्लिम युवक रोजाना की तरह धार जिले में पानी पुरी बेचने गया था। इसी दौरान एक अज्ञात व्यक्ति अचानक आ धमका और इलियास को ठेले पर हिंदू भगवान का नाम देखकर धमकाने लगा।

आरोपी ने इलियास को ठेले से हिंदू देवी देवताओं का नाम नहीं हटाने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी भी दी। इलियास को धमकी देने वाले व्यक्ति ने कहा कि तू दो ठेले लगा लेकिन अपने अल्लाह के नाम पर रख। हमारे हिंदू भगवानों के नाम पर ठेले के नाम मत रख। हम लोग ब्राह्मण हैं, तेरे यहां खाने से हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो जाएगा। 

सोशल मीडिया पर इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो वायरल हो गया है। वीडियो में मुस्लिम युवक को धमकाने वाला व्यक्ति पीड़ित को उसके धर्म को लेकर अभद्र टिप्पणी करते हुए कह रहा है कि तुम लोगों ने 50 तरह का जेहाद फैला रखा है। देश को खत्म कर दिया है। इसके साथ ही मुस्लिम युवक पर ठेले का जबरन नाम बदलने का दबाव बनाते हुए आरोपी कह रहा है कि अल्लाह फल्लाह जो नाम रखना है रख ले, 786 रख, 1520 रख लेकिन हिंदू देवी देवताओं के नाम पर ठेले का नाम मत रख।

इलियास को धमकी देने वाले व्यक्ति ने कहा कि देपालपुर से मुझे तेरे बारे में खबर आई है। नहीं तो मैं तेरे से तेरा नाम क्यों पूछता? अगर आज के बाद हिंदू भगवानों के नाम से धंधा करते हुए दिखा तो लोकल संगठन वालों को मैं बता दूंगा। 

इस पूरे घटनाक्रम पर जब हम समवेत ने इलियास से संपर्क किया तब इलियास ने बताया कि मामला सुलझ गया है। मैंने अपने ठेले का नाम बदल लेने का फैसला किया है। इलियास ने बताया कि पिछले पंद्रह वर्षों से वह सांवरिया नाम से ही पानी पुरी बेचने का काम करते हैं। साल में चार महीने महक और करण कुल्फी के नाम से बेचते हैं। जो अच्छा लगता है वह नाम रख लेते हैं। 

हालांकि इलियास ने कहा कि वे पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराएंगे। इलियास ने कहा कि मुझे कोई दिक्कत नहीं है। बस उन्हें यह वीडियो वायरल नहीं करना चाहिए था। वीडियो वायरल होने के कारण लोगों के फोन आ रहे हैं जिससे और परेशानी बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें : देवास में हुआ इंदौर पार्ट 2, मुस्लिम बुजुर्ग से मांगा आधार कार्ड, कार्ड नहीं दिखाने पर कर दी बेरहमी से पिटाई

इलियास की बहन के हवाले से सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि इलियास का पूरा परिवार इस घटना से डरा हुआ है। उन्हें अब इस बात का डर सता रहा है कि कोई अब उन पर मुस्लिम होने की वजह से हमला न कर दे। 

यह भी पढ़ें : तू किससे पूछकर गांव में घुसा जय श्री राम बोल, उज्जैन में दंगाइयों ने मुस्लिम शख़्स से जबरदस्ती लगवाए नारे

बीते कुछ दिनों में मध्य प्रदेश में इस तरह की कई घटनाएं सामने आई हैं, जहां एक व्यक्ति को उसके मजहब के आधार पर प्रताड़ित किया गया है। इसकी शुरुआत इंदौर के ही बाणगंगा क्षेत्र में मुस्लिम चूड़ी वाले की बेरहमी से हुई पिटाई के बाद हुई थी। इसके बाद देवास में मुस्लिम बुजुर्ग को आधार कार्ड नहीं दिखाने के कारण पीटा गया। उज्जैन में कबाड़ी वाले से जबरन जय श्री राम के नारे लगवाए गए। और अब पानी पुरी बेचने वाले एक गरीब व्यक्ति को हिंदू भगवान के नाम पर पानी पुरी बेचने के लिए धमकाया गया।