तू किससे पूछकर गांव में घुसा जय श्री राम बोल, उज्जैन में दंगाइयों ने मुस्लिम शख़्स से जबरदस्ती लगवाए नारे

उज्जैन में दंगाइयों ने मुस्लिम व्यक्ति का फेंका समान, जबरदस्ती लगवाए जय श्री राम के नारे, दोबारा गांव में न घुसने की दी धमकी

Updated: Aug 29, 2021, 05:49 PM IST

तू किससे पूछकर गांव में घुसा जय श्री राम बोल, उज्जैन में दंगाइयों ने मुस्लिम शख़्स से जबरदस्ती लगवाए नारे

उज्जैन। मध्य प्रदेश में एक समुदाय विशेष के खिलाफ हिंसा का एक और मामला सामने आया है। महाकाल की नगरी उज्जैन में दंगाइयों ने एक मुस्लिम बुजुर्ग से जबरदस्ती जय श्री राम नारे के लगवाए। इसके साथ ही उन्होंने उसे दोबारा गांव में न घुसने की धमकी भी दी। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। 

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस वायरल वीडियो को अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया है। राज्यसभा सांसद ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए डीजीपी और सीएम से पूछा है कि क्या यह अपराधिक कृत्य नहीं है? क्या उज्जैन पुलिस इन दिग्भ्रमित युवकों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई करेगी? 

रिपोर्ट्स के मुताबिक यह वीडियो उज्जैन के पास झारड़ा के सकेली गांव का है। मुस्लिम समुदाय से आने वाले इस व्यक्ति से जबरन जय श्री राम के नारे लगवाए गए। वीडियो को देखकर समझा जा सकता है कि अगर बुजुर्ग व्यक्ति ने दंगाइयों के कहने पर जय श्री राम का नारा नहीं लगाया होता तो ये लोग उस व्यक्ति का क्या हश्र करते। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़ित व्यक्ति कबाड़ी का काम करते हैं। सकेली गांव के रहने वाले कुछ युवकों ने उसका सामान फेंक दिया और व्यक्ति को जबरन जय श्री राम का नारा लगाने के लिए कहा। वीडियो में युवक उस मुस्लिम व्यक्ति को दोबारा गांव में न घुसने की धमकी देते हुए कहते हैं कि तू किससे पूछ कर गांव में घुसा? तू हिंदुओं के गांव से कमाई करेगा? जय श्री राम के नारे लगा। यही नहीं, वे मुस्लिम व्यक्ति के साथ हाथापाई पर उतारू भी हैं, जिसके बाद भयभीत होकर यह मुस्लिम शख्स जय श्री राम का नारा लगा रहा है। 

यह भी पढ़ें : देखिए एमपी के क्रूर चेहरे, रीवा में चोरी के शक में भीड़ ने की बेल्ट से पिटाई, 2 की हुई गिरफ्तारी

इस पूरे मामले में उज्जैन पुलिस अब जांच में जुटी हुई है। पुलिस ने वायरल वीडियो को संज्ञान में लिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। इसके साथ ही पुलिस वीडियो की जांच भी कर रही है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आशंका जाहिर की है कि ये घटनाएं किसी खास एजेंडे के तहत अंजाम दी जा रही हैं। कमल नाथ ने शिवराज सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल है, कानून का मखौल उड़ाया जा रहा है और सरकार मूकदर्शक बन कर देख रही है। 

मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों से अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों के खिलाफ ज्यादती के कई मामले सामने आए हैं। इंदौर में चूड़ी वाले की बेरहमी से पिटाई, देवास में मुस्लिम बुजुर्ग को आधार कार्ड नहीं दिखाने पर बेरहमी से पिटाई, रीवा में चोरी के शक में मुस्लिम की बेल्ट से पिटाई और अब उज्जैन में बुजुर्ग व्यक्ति से जबरन जय श्री राम के नारे लगवाना। एक के बाद एक हो रही घटनाओं पर समाज में एक बेचैनी देखी जा रही है। कमल नाथ का यह पूछना कि क्या यह किसी खास एजेंडे के तहत हो रहा है, सहज ही लोगों का ध्यान आकृष्ट कर रहा है।