भोपाल में धरने पर नूतन कॉलेज की छात्राएँ, ऑफलाइन परीक्षा का विरोध

भोपाल के नूतन कॉलेज में 10 अप्रैल से ऑफ़लाइन परीक्षाएँ होनी हैं, छात्राओं की माँग, कोरोना के मामलों को देखते हुए ऑनलाइन हों परीक्षाएँ

Updated: Mar 20, 2021, 09:12 AM IST

भोपाल में धरने पर नूतन कॉलेज की छात्राएँ, ऑफलाइन परीक्षा का विरोध
Photo courtesy: patrika

भोपाल। भोपाल के नूतन कॉलेज की छात्राएं ऑफलाइन परीक्षाओं के विरोध में धरना दे रही हैं। छात्राओं का कहना है कि जब प्रदेश में कोरोना संक्रमण एक बार फिर तेज़ी से बढ़ रहा है, तो उन्हें ऑफलाइन परीक्षाएं देने के लिए मजबूर क्यों किया जा रहा है? छात्राएं चाहती हैं कि उनकी परीक्षाएं ऑनलाइन ही कराई जाएं। कॉलेज की तरफ से घोषित कार्यक्रम के तहत 10 अप्रैल से ऑफलाइन परीक्षाएं शुरू होनी हैं।

शुक्रवार को प्रदर्शन किया। छात्रओं ने कॉलेज के मेन गेट पर बैठ कर ऑफ़ लाईन हो रही परीक्षाओं का विरोध जताया है। छात्रओं ने प्रदर्शन कर पूछा है कि जब संक्रमण इतनी गंभीर स्थिति में पहुंच गया है तो फिर यूनिवर्सिटी एग्जाम ऑफलाइन क्यों करवा रही है।

शिवाजी नगर में सरोजिनी नायडू शासकीय कन्या स्नातकोत्तर स्वशासी कॉलेज की छात्राओं ने कॉलेज के मुख्य गेट पर शुक्रवार को प्रदर्शन किया। कॉलेज की फर्स्ट, सेकेंड और थर्ड इयर की छात्राओं ने ऑफलाइन परीक्षा का विरोध करते हुए ऑनलाइन एग्ज़ाम कराने की मांग की। छात्राएं विश्वविद्यालय प्रशासन से सवाल कर रही हैं कि अग़र कोई छात्रा कोरोना वायरस से संक्रमित होती है, तो उसका जिम्मेदार कौन होगा? 

छात्राओं का कहना है कि कोरोना महामारी फैलने की वजह से उनकी पढ़ाई ऑनलाइन कराई गई है। संक्रमण अब एक बार फिर से तेज़ी पर है। ऐसे में अप्रैल में ऑफलाइन परीक्षाएं लेना ठीक नहीं है। परीक्षा के दौरान छात्राओं के  कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाएगा। छात्राओं का यह भी कहना है कि कॉलेज में बड़ी संख्या में छात्राएं दूसरे शहरों से पढ़ने आती हैं। लेकिन कॉलेज के हॉस्टल अब भी बंद हैं। ऐसे में दूसरे शहरों की छात्राएं ऑफलाइन परीक्षा कैसे दे पाएंगी? छात्राओं का कहना है कि उन्होंने अपनी परेशानियों के बारे में कॉलेज प्रबंधन को दो बार आवेदन दिया है। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. प्रतिभा सिंह का कहना है कि छात्राएं भले ही विरोध कर रही हों, लेकिन उन्हें सरकार से ऑफलाइन परीक्षा कराने के निर्देश मिले हैं। जिनका पालन करना उनके लिए जरूरी है। प्रिंसिपल का कहना है कि छात्राओं की मांगों के बारे में सरकारी अधिकारियों को मौखिक रूप से जानकारी दे दी गई है। अब सरकार से जो भी निर्देश मिलेगा, उसी के हिसाब से कार्रवाई की जाएगी। नूतन कॉलेज में स्नातक प्रथम, द्वितीय और तृतीय वर्ष की परीक्षाएं 10 अप्रैल से शुरू होनी है। 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस का ग्राफ़ तेजी से बढ़ रहा है। इसे देखते हुए इंदौर, भोपाल और जबलपुर में रविवार को पूरी तरह लॉकडाउन लगाया गया है। मध्य प्रदेश में पुलिस आरक्षक के लिए होने वाली ऑफलाइन भर्ती परीक्षा भी स्थगित कर दी गई है। ऐेसे में छात्राओं की ऑफलाइन परीक्षाएं करवाने की ज़िद वाकई हैरान करने वाली है।