होशंगाबाद में अवैध रेत खनन करने से रोकने पर किसान की हत्या, किसान के परिजनों का बीजेपी नेताओं पर आरोप

इस घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान को घेरते हुए कहा है कि इन भाजपाई गुंडों को दस फीट तक गाड़ने का साहस मामा में है या नहीं

Updated: Dec 26, 2020, 08:51 PM IST

होशंगाबाद में अवैध रेत खनन करने से रोकने पर किसान की हत्या, किसान के परिजनों का बीजेपी नेताओं पर आरोप
Photo Courtesy : Dainik Bhaskar

होशंगाबाद। होशंगाबाद के पिपरिया विकास खंड के राईखेड़ी गांव के रहने वाले किसान चंदन सिंह की आपसी संघर्ष में कुछ लोगों ने हत्या कर दी। गुरूवार को चंदन सिंह के खेत के पास से रेत का अवैध खनन किया जा रहा था। किसान द्वारा अवैध खनन का विरोध किए जाने पर दोनों पक्षों में आपसी भिड़ंत शुरू हो गई । जिसमें चंदन सिंह की जान चली गई। इस पूरे मामले में मृतक के परिजन बीजेपी नेताओं पर आरोप लगा रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि बीजेपी के नेता क्षेत्र में अवैध रेत खनन का कारोबार करते हैं।  

चंदन सिंह की मौत के बाद शुक्रवार शाम को मृतक तक का शव लेकर ग्रामीण पिपरिया के मंगलवारा थाने के चौराहे के पास पहुंचे थे। मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। हालांकि विरोध को बढ़ता देख प्रशासन ने मृतक के परिजनों को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। पुलिस ने चंदन सिंह की हत्या के आरोपी सूरज सिंह, भरत जी, रामकृष्ण गुर्जर और कमलेश को गिरफ्तार कर लिया है। 

इस पूरे प्रकरण में अब बीजेपी से जुड़े नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि बीजेपी के नेता क्षेत्र में रेत का अवैध खनन करते हैं और पुलिसकर्मी मृतक के परिवार को मुंह बंद कर के रखने के लिए धमकाते हैं। चंदन सिंह के परिजनों का आरोप है कि क्षेत्र में बीजेपी नगर मंडल अध्यक्ष बलराम ठाकुर के छोटे भाई सूरज ठाकुर और पिपरिया विधायक प्रतिनिधि अर्जुन चौहान रेत का अवैध खनन करते हैं। परिजनों का मंगलवारा थाना में पदस्थ पुलिसकर्मियों पर भी आरोप है कि नरेश मलिक (स्पेशल ब्रांच) और शुभम दुबे (स्टेशन थाना रोड के आरक्षक) रेत चोरी को लेकर उन्हें अपना मुंह बंद करने के लिए धमकाते रहते हैं। 

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश छोड़ के चले जाओ वरना 10 फीट नीचे गाड़ दूंगा, माफियाओं पर बरसे शिवराज

क्या भाजपाई गुंडों को दस फीट गाड़ने का साहस मामू में है ? 
इस घटना के सामने आने के बाद राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर एक बार फिर हमला बोला है। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि क्या शिवराज में इन भाजपाई गुंडों को दस फीट गाड़ने का साहस है ? दिग्विजय सिंह ने कहा कि मामू ( शिवराज ) ज़रा ये खबर देख लो। रेत माफिया ने किसान की हत्या कर दी है। परिजन कह रहे हैं कि किसान की हत्या में भाजपाई नेताओं का हाथ है। साहस है उन भाजपाई गुंडों को दस फीट गाड़ने का ?

यह भी पढ़ें : कांग्रेस का आरोप, विधानसभा सत्र फिर एक दिन में ख़त्म करने की साज़िश, जनहित के मुद्दों से भाग रही सरकार

दरअसल प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम  में अपने संबोधन के दौरान माफियाओं को चेतावनी जारी करते हुए कहा था कि अगर माफिया मध्यप्रदेश छोड़ कर नहीं गए तो खुद शिवराज उन्हें दस फीट नीचे गाड़ देंगे। लेकिन अब पिपरिया में हुई किसान की हत्या में बीजेपी से जुड़े नेताओं का नाम आ रहा है। लिहाज़ा दिग्विजय सिंह ने पूछा है कि शिवराज अपनी पार्टी के इन गुंडों और माफियाओं पर कोई कार्रवाई करेंगे या नहीं ? 

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने शिवराज के बयान पर निशाना साधते हुए कहा था कि प्रदेश में माफियाओं को पनपाने वाले तो शिवराज ही हैं। दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कहा था कि शिवराज को बताना चाहिए कि आखिर अपने 15 वर्षों के कार्यकाल में शिवराज ने कौन से भू माफिया के खिलाफ कार्रवाई की है ?