सीहोर-मुरैना में कांग्रेसी जिपं सदस्यों को उठा ले गई पुलिस, दिग्विजय सिंह बोले- BJP के पास अब कोई चारा नहीं

कांग्रेस जिला पंचायत सदस्यों को अगवा किए जाने के खिलाफ धरने पर बैठे पूर्व मंत्री समेत कांग्रेस के विधायक गिरफ्तार, रामनिवास रावत बोले- शिवराज जी थोड़ी भी शर्म बची हो तो यह घिनौना खेल बंद कर दो

Updated: Jul 28, 2022, 11:59 PM IST

सीहोर-मुरैना में कांग्रेसी जिपं सदस्यों को उठा ले गई पुलिस, दिग्विजय सिंह बोले- BJP के पास अब कोई चारा नहीं

भोपाल। मध्य प्रदेश जनपद पंचायत चुनाव में विपक्षी दल कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज की है। इसके साथ ही कांग्रेस अब जिला पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। इसी बीच कांग्रेस ने सीहोर और मुरैना जिले में कांग्रेस जिला पंचायत के सदस्यों को अगवा किए जाने का आरोप लगाया है। कांग्रेस का दावा है कि सत्ताधारी दल के इशारे पर पुलिस कांग्रेस के प्रतिनिधियों को अगवा कर रही है ताकि जिला पंचायत चुनाव को प्रभावित किया जा सके।

सीहोर में कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्य राजू राजपूत ने वीडियो बाइट जारी कर बताया कि वे कांग्रेस के चार अन्य निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों के साथ होटल में रुके हुए थे। वहां पुलिस आई और बर्बर तरीके से हमें अगवा कर थाने ले आई। भाजपा लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है। भाजपा ने पूरे प्रशासन को इस काम में लगा रखा है कि कांग्रेस के सदस्यों को खरीदो और उन्हें बीजेपी को सौंप दो।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने इस मामले पर राज्य सरकार को निशाने पर लिया है। सिंह ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि, 'लोकतंत्र को कुचलने में पुलिस भाजपा की सहायक बन रही है, एमपी के सीहोर जिले के कांग्रेस समर्थित सभी जिला सदस्यों को खजूरी सड़क थाने में जबरन बैठाकर रखा गया। भाजपा के पास पीछे से बहुमत चुराने के अलावा कोई रास्ता नही बचा है क्योंकि जनता ने उन्हें सिरे से खारिज करना शुरू कर दिया है।' 

उधर मुरैना से भी ऐसी ही खबर सामने आई है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मुरैना पुलिस ने पार्टी के तीन जिला पंचायत सदस्यों को अगवा किया है।कांग्रेस के पूर्व मंत्री रामनिवास रावत, विधायक राकेश माई, विधायक अजब सिंह कुशवाह और विधायक रविंद्र सिंह तोमर धरने पर बैठे हुए थे। इसके बाद जानकारी मिली की पुलिस सभी कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार कर ले गई। 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने इस घटना पर तल्ख टिप्पणी की है। एमपी कांग्रेस ने ट्वीट किया, 'लोकतांत्रिक को रौंदती भाजपा। सत्ता के नशे में चूर शिवराज सरकार जिला पंचायत के चुने हुए सदस्यों को अगवा करवा रही है और प्रशासन गुंडागर्दी कर रहा है। मप्र कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत जी और अन्य नेताओं, विधायकों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है। "शर्म करो शवराज"

इससे पहले बीजेपी ने महेश्वर जनपद पंचायत में जीत का दावा किया था। हालांकि, बीजेपी के ही तीन स्थानीय मंडल अध्यक्षों ने बयान जारी कर कहा कि यहां को कांग्रेस कार्यकर्ता की जीत हुई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने इसका वीडियो ट्वीट कर कहा, 'भाजपा की झूठी जीत बेनक़ाब। महेश्वर जनपद पंचायत के चुनाव में भाजपा की जीत के झूठे दावों का भाजपा के 3 - 3 मंडल अध्यक्षों ने एक साथ खंडन किया। शिवराज जी, इस बार तो बेशर्मी के सारे ख़िताब जीत लिये। करारी हार छिपाना है, इसलिए झूठ दिखाना है।'